UP: पीलीभीत की गैंगरेप पीड़िता की 12 दिन बाद लखनऊ में इलाज के दौरान मौत
UP: पीलीभीत की गैंगरेप पीड़िता की 12 दिन बाद लखनऊ में इलाज के दौरान मौत

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में दुष्कर्म के बाद जलाई गई किशोरी की इलाज के दौरान लखनऊ में मौत हो गई है। किशोरी की मौत के बाद उसके गांव में भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है। दोपहर बाद शव गांव पहुंचने की उम्मीद है।


जानकारी के अनुसार, पीलीभीत के माधोटांडा इलाके के एक गांव में सात सितंबर को किशोरी से दुष्कर्म किया गया, एक आरोपी ने किशोरी पर डीजल छिड़ककर आग लगा दी थी। जिला अस्पताल से 10 सितंबर को पीड़िता को लखनऊ के केजीएमयू अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान किशोरी की रविवार रात 3:00 बजे मौत हो गई। 

Aacharya Dharmendra Passed Away: राम जन्मभूमि मंदिर आंदोलन से जुड़े हिंदू नेता आचार्य धर्मेन्द्र का निधन

आपको बता दें कि सात सितंबर को किशोरी घर पर अकेली थी। पिता खेत पर गए थे, जबकि मां पहले से मायके गई हुई थीं। दोपहर करीब 12 बजे गांव के दो युवक घर में घुस आए। आरोप है कि एक युवक ने किशोरी से दुष्कर्म किया। इसके बाद विरोध करने पर युवक ने अपने साथी की मदद से किशोरी पर डीजल छिड़क कर आग लगा दी और भाग गए। 

वह चीखती रही, मगर कोई मदद को नहीं आया। पिता जब खेत से लौटकर घर पहुंचा तो बेटी को जली हुई अवस्था में बेहोश पाया। घटना का पता 10 सितंबर को तब चला जब जिला अस्पताल में किशोरी को होश आया। इसके बाद पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। सोमवार सुबह जैसे ही किशोरी की मौत की खबर गांव पहुंची। वहां भीड़ जुटना शुरू हो गई। कई थानों की पुलिस फोर्स गांव में लगाई गई है। 
 

Share this story