मैनपुरी: नामांकन से पहले डिंपल-अखिलेश ने मुलायम को किया नमन

Mainpuri: Before nomination, Dimple-Akhilesh bowed down to Mulayam

Dimple Yadav Nomination: मैनपुरी संसदीय सीट से बतौर समाजवादी पार्टी उम्‍मीदवार नामांकन करने निकलीं डिंपल यादव और पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने सबसे पहले सैफई में मुलायम सिंह यादव की समाधि स्‍थल पर जाकर उन्‍हें श्रद्धांजलि दी और उनका आशीर्वाद लिया। डिंपल थोड़ी ही देर में नामाकंन करने वाली हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस दौरान शिवपाल सिंह यादव लखनऊ स्थित अपनी पार्टी के दफ्तर में मौजूद हैं। लिहाजा डिंपल के नामांकन के समय वह मौजूद नहीं रहेंगे, इतना साफ हो गया है। इस बीच पार्टी के वरिष्‍ठ नेता रामगोपाल यादव मैनपुरी उपचुनाव को लेकर बीजेपी पर हमला बोला है। रामगोपाल ने कहा कि बीजेपी बड़े-बड़े दावे कर रही है लेकिन नतीजे आएंगे तो उसके ये सारे दावे हवा हो जाएंगे।

Delhi News: दिल्ली में लिव-इन रिलेशन में रहने वाली युवती की बेरहमी से हत्या, हत्या कर शव के कई टुकड़े, 5 महीने बाद ऐसे खुला राज

बता दें कि कल मुलायम सिंह यादव के भतीजे रणवीर सिंह की पुण्‍यतिथि थी। इस मौके पर उनकी स्मृति में हुए हवन कार्यक्रम में अखिलेश यादव, धर्मेंद्र यादव, तेज प्रताप यादव के साथ शमिल हुए थे। इसमें शिवपाल के बेटे आदित्य भी शामिल हुए थे। अखिलेश यादव ने इस आयोजन की फोटो भी सोशल मीडिया पर शेयर की थी।

नामांकन के साथ ही डिंपल आज से मुलायम सिंह यादव की विरासत के भरोसे अपने प्रचार अभियान का आगाज करेंगी। मैनपुरी सीट पिछले महीने 10 अक्‍टूबर को मुलायम सिंह यादव के निधन के चलते खाली हुई है। मुलायम सिंह के निधन के चलते डिंपल का नामांकन अभियान पूरी तरह सादगीपूर्ण रखा गया है। 

कल ही पूरी कर ली गई थीं तैयारियां 

अखिलेश यादव परिवार समेत शनिवार को ही सैफई पहुंच गए थे। कल ही सपा की मैनपुरी इकाई ने नामांकन पत्र दाखिल कराने के लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली थीं। चार सेट में नामांकन पत्र भरवाने और  प्रस्तावकों के नाम भी तय हो गए थे। आज नामांकन के बाद डिंपल यादव का औपचारिक तौर पर प्रचार अभियान शुरू हो जाएगा। उनका इरादा ग्रामीण इलाकों में सघन प्रचार करने का है।

मुलायम परिवार के अन्य सदस्य धर्मेंद्र यादव, तेज प्रताप यादव पहले से ही प्रचार अभियान में जुटे हैं। यह दोनों नेता मैनपुरी का लोकसभा उपचुनाव जीत चुके हैं। इसलिए धर्मेंद्र यादव और तेज प्रताप यादव को यहां के चुनावी मिजाज का खासा अनुभव है जो अब सपा के काम आएगा।

Share this story