जानिए कौन है आकाश सक्सेना जिन्हें बीजेपी ने रामपुर उपचुनाव में बनाया प्रत्याशी, आजम खां से है पुराना विवाद

Know who is Akash Saxena whom BJP made candidate in Rampur by-election, there is an old dispute with Azam Khan

रामपुर: भारतीय जनता पार्टी ने यूपी में होने वाले उपचुनाव को लेकर प्रत्याशियों के नामों का ऐलान कर दिया है। जारी की गई लिस्ट में भाजपा ने रामपुर(Rampur)  से विधानसभा उपचुनाव के लिए आकाश सक्सेना (Akash Saxena)  को उम्मीदवार बनाया है। आकाश पूर्व में भी रामपुर से चुनाव लड़ चुके हैं। हालांकि उन्हें यहां से करारी हार का सामना करना पड़ा था। 

आजम की सदस्यता समाप्त होने में रही थी आकाश की भूमिका


आपको बता दें कि रामपुर से प्रत्याशी बनाए गए आकाश सक्सेना का अहम योगदान आजम खां की विधायकी में संकट उत्पन्न करने में रहा है। आकाश पेशे से व्यवसायी है और पूर्व मंत्री शिव बहादुर सक्सेना के बेटे हैं। उन्होंने ही आजम खां के खिलाफ केस दर्ज करवाया था। जिसका फैसला आने के बाद आजम की सदस्यता को समाप्त कर दिया गया। इससे पहले आकाश अब्दुल्ला आजम की फर्जी डिग्री केस में उनकी विधानसभा सदस्यता को समाप्त करवाने में भी बड़ी भूमिका निभा चुके हैं। 

बीजेपी ने डिंपल यादव के खिलाफ इस उम्मीदवार को उतारा, साथ ही राज्यों में होने वाले लोकसभा और विधानसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की लिस्ट जारी

आजम खां के खिलाफ कई मामलों में वादी है आकाश


आपको बता दें कि आकाश सक्सेना पूर्व मंत्री शिव बहादुर सक्सेना के बेटे और भाजपा नेता होने के साथ ही आजम खां के खिलाफ कई मामलों में वादी भी हैं। जौहर विवि की जमीन छिनवाने में आकाश का ही हाथ था। आकाश छात्र जीवन से ही राजनीति में सक्रिय रहे और उसके बाद कारोबार में सक्रिय हुए। वह आईआईए के लंबे समय तक चेयरमैन भी रहे हैं।

भाजपा ने उन्हें पश्चिमी यूपी के लघु उद्योग प्रकोष्ठ का संयोजक भी बनाया था। आकाश आजम और उनके परिवार के खिलाफ दर्ज 43 मुकदमों में सीधे पक्षकार हैं। उनकी आजम परिवार से लड़ाई 2018 में अब्दुल्ला के फर्जी बर्थ सर्टिफिकेट मामले से शुरू हुई थी जो आजम की विधायकी जाने तक जारी है। आकाश सक्सेना रामपुर से चुनाव भी लड़ चुके हैं। रामपुर चुनाव में आजम खां के खिलाफ उन्हें 55 हजार वोटों से करारी शिकस्त मिली थी। 2022 के चुनाव में आजम खां को रामपुर में 1 लाख 30 हजार 649 वोट मिले थे जबकि आकाश सक्सेना को 75 हजार 411 वोट ही हासिल हुए थे। 

Share this story