Aligarh हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर बस में लगी आग

Bus caught fire after being hit by Aligarh high tension line

अलीगढ़ में हाईटेंशन लाइन की चपेट में आई प्राइवेट बस में आग लग गई  , बस में बैठे लगभग एक दर्जन यात्री झुलसे गए हैं अलीगढ़ के दादों में आलमपुर बाइपास पर बुधवार को एक बड़ा हादसा हो गया। कासगंज रोड पर मजदूरों से भरी बस में बिजली की एक हाईटेंशन लाइन टूट कर गिर गई। हाईटेंशन लाइन गिरने के कारण इसमें करंट उतर आया और आग लग गई। बस में चीख पुकार मच गई।

बस में 70 ईंट भट्‌ठा मजदूर सवार थे और वह महोबा से अलीगढ़ की ओर से आ रहे थे। इन सभी को थाना पाली के खुर्दिया गांव में एक भट्‌ठे पर काम करने के लिए ले जाया जा रहा था। तभी दोपहर में यह हादसा हो गया। हादसे में 12 से ज्यादा मजदूर घायल हुए हैं।

बस के ऊपर रखी चारपाई में फंसा तार


ईंट भट्‌ठे पर काम करने के लिए मजदूरों को महोबा से लाया गया था। उनके साथ उसका काफी सारा सामान भी था, जो बस की छत पर रखा हुआ था। आसपास के लोगों की मानें तो बाइपास से गुजरने के दौरान हाईटेंशन लाइन बस के ऊपर रखी चारपाई में फंस गई।

चारपाई में हाईटेंशन लाइन फंसकर वह टूट गई और करंट बस में उतर आया। करंट लगने से पहले तो बस में चीख पुकार मच गई और देखते ही देखते बस ने आग पकड़ ली। बस में आग लगी देख आसपास के ग्रामीण दौड़े और लोगों को बचाने का प्रयास शुरू किया।

यात्रियों को करंट के झटके लगे


देखते ही देखते बस में आग लग गई। बिजली की तार होने के कारण पहले लाग पास जाने में डर रहे थे, लेकिन बाद में जब बिजली सप्लाई रुकी तो लोगों ने घायलों की मदद करनी शुरू की। तब तक करंट के झटके में लोग छटपटाते दिखे।घटना की जानकारी मिलने पर तुरंत फायर ब्रिगेड की गाड़ी मौके पर पहुंची और आग बुझाकर घायलों को बाहर निकाला। इसके बाद गांव के लोग तुरंत घायलों को लेकर CHC की ओर दौड़े। घायलों का CHC में इलाज कराया जा रहा है।

2 मजदूरों की हालत है गंभीर


घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस और ग्रामीणों ने तत्काल घायलों को छर्रा CHC में भर्ती कराया है। जहां पर 2 मजदूरों की हालत गंभीर बताई जा रही है। वहीं 15 मजदूर और बच्चे सामान्य रूप से घायल हैं, जिनका इलाज चल रहा है।मजदूरों ने बताया है कि वह ईंट भट्‌ठे पर काम करने के लिए जा रहे थे। उनका रहना और खाना भट्‌ठे पर ही होना था। इसीलिए वह अपने साथ परिवार, बच्चों और खाने पीने का सामान भी लेकर आए थे। उन्हें गांव खुर्दिया में भट्‌ठे पर ईंट बनाने का काम मिला था।

बिजली विभाग की लापरवाही आ रही सामने

इलाके के लोगों ने बताया कि बाईपास के पास की ज्यादाता बिजली की हाईटेंशन लाइनें पुरानी और जर्जर हो चुकी हैं। इसके साथ ही यह सड़क से काफी नजदीक हैं। ऐसे में आने जाने वाले वाहनों में इनके छूने का डर हमेशा बना रहता है।बुधवार दोपहर लगभग 12:30 बजे मजदूरों को लेकर जब बस यहां से गुजरी तो तार बस और इसके ऊपर रखे सामान में फंस गए। जर्जर होने के कारण तार तुरंत टूट गई और बस में करंट दौड़ गया। जिसके चलते यह हादसा हुआ है।

घायलों का इलाज जारी


CO छर्रा मोहसिन खान ने बताया कि सभी घायलों को इलाज के लिए CHC में भर्ती कराया गया है। घटना में किसी की मौत नहीं हुई है। कुछ लोग झुलसे हैं, जिनका इलाज जारी है।

Share this story