Gorakhpur News: गोरखपुर डीएम कृष्णा करुणेश की बड़ी कार्रवााई, 70 अधिकारियों व कर्मचारियों का वेतन रोका- 19 को दी चेतावनी
Big action taken by Gorakhpur DM Krishna Karunesh, stopped the salary of 70 officers and employees - warned 19

गोरखपुर। जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश ने लापरवाह कर्मियों पर बड़ी कार्रवाई की है। लापरवाही के आरोप में उन्होंने 70 अधिकारियों व कर्मचारियों का वेतन रोक दिया है। डीएम के निर्देश पर अधिकारियों की टीम ने विभिन्न सरकारी कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया गया था। इसमें 79 अधिकारी व कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए। निरीक्षण रिपोर्ट मिलने के बाद डीएम ने सभी का एक दिन का वेतन रोक दिया है। साथ ही उनसे स्पष्टीकरण तलब किया गया है। कलेक्ट्रेट में भी 19 कर्मचारी देर से पहुंचे थे, सभी को चेतावनी दी गई है।

भारत और ऑस्ट्रेलिया आखिरी T20 टिकट को लेकर हैदराबाद में जमकर हंगामा, पुलिस ने क्रिकेट फैंस पर किया लाठीचार्ज, देखें वीडियो

इन कार्यालयों में गायब मिले थे कर्मी


मुख्य विकास अधिकारी संजय कुमार मीणा ने विकास भवन के कार्यालयों का निरीक्षण किया। विकास भवन में 31 अधिकारी, कर्मचारी अनुपस्थित मिले। इनमें जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय में 26 में से 16, जिला पिछड़ा वर्ग कार्यालय में तीन में से एक, समाज कल्याण विभाग में 10 में से चार, जिलापूर्ति में 19 में से तीन, ग्रामीण अभियंत्रण विभाग में 24 में से चार, जिला पूर्ति कार्यालय में तीन कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए।

मुख्य विकास अधिकारी ने कार्यालयों में सफाई की भी जांच की। शौचालयों एवं अन्य स्थानों पर गंदगी पाई गई। किनारे की ओर बनी सीढ़ियों पर पान की पीक देखकर उन्होंने नाराजगी जताई। एडीएम वित्त एवं राजस्व ने संभागीय परिवहन कार्यालय का निरीक्षण किया। वहां तीन कर्मचारी अनुपस्थित मिले।

यहां भी मिली लापरवाही


उप संभागीय परिवहन कार्यालय में आठ कर्मी अनुपस्थित रहे। निबंधन कार्यालय में चार, खंड विकास अधिकारी पिपराइच के कार्यालय में एक, उपायुक्त उद्याेग के कार्यालय में दो, कैंपियरगंज सीडीपीओ कार्यालय में दो, खंड शिक्षा अधिकारी गोला व भरोहिया के कार्यालय में एक-एक, बांसगांव सीडीपीओ कार्यालय में तीन, उप निदेशक कार्यालय में नौ, सीडीपीओ ब्रह्मपुर कार्यालय में तीन कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए। जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को समय से उपस्थित रहने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि समय-समय पर औचक निरीक्षण जारी रहेगा।

इन अधिकारियों ने की जांच


मुख्य विकास अधिकारी संजय कुमार मीणा, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व राजेश कुमार सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन पुरुषोत्तम दास गुप्ता, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सदर कुलदीप मीणा, अपर जिलाधिकारी भू एवं राजस्व सुशील कुमार गोंड, अपर जिलाधिकारी नगर विनीत कुमार सिंह, नगर मजिस्ट्रेट अंजनी कुमार सिंह, अपर उप जिलाधिकारी सदर अधिकारियों ने जांच की।

Share this story