हिंदू संगठन के जिलाध्यक्ष की हत्या के बाद उसकी मुस्लिम महिला मित्र की हुई मौत, थाने बुलाकर की गई थी पूछताछ

After the murder of the District President of the Hindu organization, his Muslim female friend died, the inquiry was done by calling the police station

बदायूं: मूसाझाग के गांव गिधौल निवासी हिंदू सेवा दल के जिलाध्यक्ष प्रदीप कश्यप की हत्या मामले में उझानी के एक गांव निवासी उसकी महिला मित्र से पुलिस ने पूछताछ की। पूछताछ के बाद शाम को ही उस महिला मित्र की भी मौत हो गई। इस मामले में परिजनों ने पुलिस को जानकारी दिए बिना ही शव को सुपुर्द-ए-खाक कर दिया। पुलिस को जैसे ही इस बात का पता लगा तो परिजनों से बात की गई।

डेंगू से पीड़ित थी मुस्लिम महिला मित्र, घर आने के बाद थी परेशान 


परिजनों ने बताया कि पुलिस उनकी बेटी को लेकर गई थी उसके मोबाइल चेक करने के बाद उसे छोड़ दिया गया। घर आने के बाद से वह काफी परेशान थी और डेंगू बुखार से भी पीड़ित थी। अचानक ही तबियत बिगड़ने के बाद उसकी मौत हो गई। ज्ञात हो कि गिधौल निवासी प्रदीप कश्यम की हत्या शनिवार को सुबह हुई थी। इस मामले में उसके भाई ने गांव के ही 5 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। पुलिस ने मामले में धीरेंद्र और फुलवारी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। हालांकि पुलिस इसके बाद भी इस मामले को संदेह की नजर से देख रही थी। 

महिला मित्र से लगातार होती थी प्रदीप की बात


पुलिस को आशंका थी कि हत्या के पीछे कोटे के विवाद के अलावा दूसरा कारण भी हो सकता है। मामले की जांच शुरू की गई तो प्रदीप के मोबाइल की कॉल डिटेल्स से कई नंबर हाथ लगे। कई नंबर ऐसे थे जिनसे लगातार बात हो रही थी। इस के चलते पुलिस ने तमाम लोगों से पूछताछ की। प्रदीप की मुस्लिम महिला मित्र को भी पुलिस ने बुलाया और पूछताछ की। महिला ने बताया कि वह प्रदीप को जानती है और इसी के चलते उससे बातचीत होती है। हालांकि यहां से वापस घर जाने के बाद उस महिला मित्र की मौत हो गई। 

Share this story