पंजाब की चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में नहाती स्टूडेंट्स का वीडियो बनाकर किसे भेजती थी छात्रा? पुलिस का ये दावा
To whom did the student send a video of students bathing in Chandigarh University of Punjab? Police claim

पंजाब की चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की छात्राओं के नहाते समय का वीडियो वायरल होने पर बवाल मच गया है। इस मामले पर विश्वविद्यालय के छात्रों ने शनिवार रात जमकर विरोध-प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी छात्रों ने इस घटना से संबंधित लोगों की जान जाने और घायल होने का आरोप लगाया है। वहीं, मोहाली के एसएसपी विवेक शील सोनी ने इस मामले में किसी मौत के दावे से इनकार किया है।

एसएसपी विवेक शील सोनी ने कहा, 'कल शाम एक मामला सामने आया था कि एक लड़की ने वीडियो बनाया था। बाद में अफवाह फैली की और भी वीडियो बनाए गए हैं। इसके लिए यहां के कुछ छात्रों ने प्रदर्शन किया। मामले में FIR लिखी गई है। आरोपियों को पकड़ा जा चुका है। यहां पर किसी की मृत्यु नहीं हुई है।'

Mohali Video Leak: पुरानी रंजिश या ब्लैकमेलिंग...आखिर क्या है वीडियो लीक कांड का कारण

SSP बोले- फोरेंसिक सबूत इकट्ठा किए जा रहे


मोहाली के एसएसपी ने सुसाइड की कोशिश के दावे को भी गलत बताया है। उन्होंने कहा, 'छात्रों के मेडिकल रिकॉर्ड्स हासिल कर लिए गए हैं। मेडिकल रिकॉर्ड्स के मुताबिक, किसी ने भी सुसाइड की कोशिश नहीं की है। फोरेंसिक सबूत इकट्ठा किए जा रहे हैं। लोगों को अफवाहों पर ध्यान नहीं देना चाहिए।'

जो वीडियो है वो उसकी खुद की है: एसएसपी सोनी


SSP विवेक शील सोनी ने कहा, 'अब हम मामले में विस्तृत जांच कर रहे हैं। हमारे पास जो भी जानकारी और वीडियो है उसकी फोरेंसिक जांच करवा रहे हैं। हमने अभी तक जो जांच की है, उसमें यह बात साफ आती है कि जो वीडियो है वो उसकी खुद की है, उसके अलावा किसी और की कोई वीडियो नहीं है।'

दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा: स्कूल शिक्षा मंत्री


पंजाब के स्कूल शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस ने चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के छात्रों से शांत रहने की अपील की है और उन्हें आश्वासन दिया है कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। वहीं, इस मामले पर पंजाब राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष मनीषा गुलाटी का भी बयान आया है। गुलाटी ने कहा, 'यह गंभीर मामला है, यह बहुत दुखद है। इस मामले की जांच की जा रही है। मैं यहां सभी छात्रों के माता-पिता को आश्वस्त करने के लिए हूं कि आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा।'


ये गहन जांच का विषय: महिला आयोग


जिस लड़की ने ये वीडियो वायरल किया, उस पर अधिकारियों ने तत्काल कार्रवाई करते हुए धारा 354(C) आईटी के तहत मामला दर्ज कर लिया है। कड़ी कार्रवाई होगी... अगर ये सब पहले से चल रहा था तो मैं आपको आश्वासन देती हूं कि ये गहन जांच का विषय है और इस मामले पर मेरी नजर रहेगी। इस मामले में झूठ फैलाया गया कि कुछ बच्चियों ने आत्महत्या कर ली है। ये सब अफवाह है, ना किसी बच्ची ने आत्महत्या किया है और ना ही कोई अस्पताल में है।'

Share this story