Gujrat Assembly Election: पंजाब की तरह क्या गुजरात में जीत दिला पाएंगे राघव चड्ढा? AAP ने सौंपी बड़ी जिम्मेदारी
Gujarat Assembly Election: Will Raghav Chadha be able to win Gujarat like Punjab? AAP entrusted big responsibility

Gujarat News: आम आदमी पार्टी (AAP) गुजरात में होने वाले विधान सभा चुनावों के लिए जोर शोर से तैयारियों में लगी हुई है। पंजाब चुनाव में मोर्चा संभालने के बाद पार्टी ने राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा को गुजरात में एक जिम्मेदारी सौंपी है। पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राघव चड्ढा को गुजरात विधान सभा चुनावों के लिए AAP का सह-प्रभारी नियुक्त किया है।

राघव चड्ढा ने इसके लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल को धन्यवाद दिया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, "मैं अरविंद केजरीवाल को धन्यवाद कहना चाहता हूं। उन्होंने मुझे एक बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। मैं अपनी पार्टी की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए अपना खून, पसीना, आंसू बहा दूंगा और कड़ी मेहनत करूंगा। गुजरात बदलाव चाहता है, गुजरात अच्छी शिक्षा-स्वास्थ्य चाहता है। गुजरात केजरीवाल चाहता है।"

Benefits of Oiling Navel: नाभि में तेल लगाने के ये गजब के फायदे जान आप हो जाएंगे हैरान

पंजाब में आप को दिलाई बड़ी जीत

पंजाब में एक प्रचंड चुनावी जीत सुनिश्चित करने के लिए एक इनाम के रूप में आम आदमी पार्टी ने रविवार को राघव चड्ढा को यह जिम्मेदारी दी है। चड्ढा इस साल की शुरुआत में पंजाब की जीत के बड़ी कड़ी भी थे, जब AAP ने 117 में से 92 सीटें जीतकर 79 प्रतिशत बहुमत हासिल किया था।


राघव चड्ढा माने जाते हैं कुशल राजनीतिज्ञ और प्रशासक

राघव चड्ढा इससे पहले सह-प्रभारी पंजाब रहते हुए आम आदमी पार्टी की जीत के अहम सूत्रधार रह चुके हैं। यह भी कहा जाता है कि राघव चड्ढा की बनाई रणनीति के जरिये ही आम आदमी पार्टी ने पंजाब चुनाव में ऐतिहासिक जीत हासिल की है। राघव चड्ढा के कहने पर ही भगवंत मान को पंजाब में सीएम प्रत्याशी घोषित किया गया और नतीजा यह हुआ कि पंजाब में AAP ने ऐतिहासिक जीत हासिल की। इससे पहले राघव चड्ढा दिल्ली और पंजाब में अहम पदों पर काम कर चुके हैं। राघव चड्ढा कुशल राजनीतिज्ञ और प्रशासक माने जाते हैं।

पेशे से चार्टर्ड एकाउंट भी हैं राघव

दिल्ली में 11 नवंबर 1988 को राघव चड्डा की प्रारंभिक और उच्च शिक्षा दिल्ली से हुई है। राघव चड्ढा ने दिल्ली के माडर्न स्कूल से शिक्षा हासिल की, इसी स्कूल से बालीवुड के बादशाह शाहरुख खान ने भी पढ़ाई की है। इसके अलावा वह दिल्ली विश्विद्यालय से स्नातक भी हैं। पेशे से चार्टर्ड एकाउंट भी हैं। इसके अलावा, लंदन स्कूल आफ इकोनॉमिक्स से ईएमबीए सर्टिफिकेशन कोर्स भी किया है।

उत्तर भारत के सबसे कम उम्र के राज्यसभा सदस्य हैं राघव चड्ढा

अरविंद केजरीवाल के करीबी नेताओं में शुमार राघव चड्डा उत्तर भारत के सबसे कम उम्र के राज्यसभा सदस्य हैं। राघव चड्ढा की उम्र 33 वर्ष बताई जा रही है, जबकि मैरी काम 34 वर्ष की उम्र में राज्यसभा सदस्य मनोनीत हुई थीं। वहीं, एक अन्य ऋताब्रत बनर्जी भी 34 वर्ष की ही उम्र में राज्यसभा भेजे गए थे। सबसे कम उम्र का राज्यसभा सांसद होने का रिकार्ड अनुभव मोहंती के नाम है। वह 33 साल से कम उम्र में राज्यसभा सांसद बने थे।


 

Share this story