जयपुर में फरारी काट रहे गैंगस्टर की पंजाब पुलिस से हुई मुठभेड़, पुलिस को देखते ही चलाईं गोलियां, गैंगस्टर राम हुड्‌डा के पैर में लगी गोली

Encounter with Punjab Police of gangster cutting absconding in Jaipur, fired bullets on seeing the police, gangster Ram Hooda was shot in the leg

जयपुर में फरारी काट रहे गैंगस्टर की पंजाब पुलिस से मुठभेड़ हुई। फायरिंग में बदमाश के पैर में गोली लगी। पुलिस ने बदमाश को हॉस्पिटल में भर्ती कराया। मामला रामनगरिया थाना इलाके का रविवार का है। एडिशनल डीसीपी क्राइम सुलेश चौधरी ने बताया कि पंजाब का गैंगस्टर राम हुड्‌डा पिछले कुछ दिनों से जयपुर में छिपा था। वह रामनगरिया इलाके में रह रहा था। पंजाब पुलिस को इसकी सूचना मिली। आज सुबह ही पंजाब पुलिस के एंटी गैंगस्टर्स टास्क फोर्स (AGTS) के डिप्टी विक्रम बराड़ ने पुलिस से मदद मांगी थी। इस पर CST-ATS की मदद से दोपहर 2.30 बजे बदमाश राज हुड्‌डा को पकड़ने के लिए उसके फ्लैट पर दबिश दी।

इस दौरान बदमाश ने भागने का प्रयास किया, जिसे पंजाब पुलिस ने गोली मार कर गिरा दिया। पुलिस की ओर से की गई फायरिंग में बदमाश के पैर में गोली लग गई। पुलिस बदमाश को पकड़कर पास के प्राइवेट हॉस्पिटल में ले गई। जहां उसका इलाज जारी है।

फायरिंग की आवाज सुनकर लोग घुसे घर में


कॉलोनी में फायरिंग की आवाज सुनकर पहले लोग बाहर आए, लेकिन पुलिस को मौके पर देखा तो लोग समझ गए की कोई बदमाश छिपा हुआ है। स्थानीय लोगों ने बताया कि पुलिस ने बदमाश को पकड़ने के लिए माइक पर भी आवाज लगाई, लेकिन बदमाश नहीं माना।

डेरा प्रेमी प्रदीप सिंह की हत्या की थी


रोहतक निवासी आरोपी राज हुड्‌डा का 2004 में जन्म हुआ था। पंजाब फरीदकोट में 10 नवंबर को दिनदहाड़े डेरा प्रेमी प्रदीप सिंह की हत्या कर दी थी। जिसके बाद से आरोपी अलग-अलग जगहों पर छिप कर रहा था। अब तक पंजाब पुलिस प्रदीप सिंह हत्याकांड के चार शूटरों को गिरफ्तार कर चुकी है। दो शूटरों को जालंधर, होशियारपुर और फरीदकोट पुलिस के जॉइंट ऑपरेशन में होशियारपुर से गिरफ्तार किए गए हैं। शूटरों की पहचान मनप्रीत उर्फ मनी और भूपिंदर उर्फ गोल्डी के रूप में हुई है।

Share this story