Chandigarh में जिला अदालत को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस ने इमारत को खाली कराया

चंडीगढ़ में जिला अदालत को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस ने इमारत को खाली कराया

चंडीगढ़ जिला अदालत परिसर में बम होने की सूचना मिलने के बाद अफरा-तफरी मच गई। सेक्टर 43 स्थित कोर्ट परिसर में बम की सूचना मिली थी। किसी अज्ञात शख्स ने पत्र लिखकर इसकी जानकारी दी थी। इसके तुरंत बाद, जजों, वकीलों, स्टाफ और अन्य लोगों को तुरंत बाहर निकलने को कहा गया। तुरंत 30 कोर्ट रूम खाली कराए गए। परिसर को खाली करवाकर पुलिस छानबीन कर रही है। मौके पर सीनियर पुलिस अधिकारी भी मौजूद हैं। 

चंडीगढ़ पुलिस को एक पत्र मिला था, जिसमें कहा गया कि चंडीगढ़ के ज्यूडिशियल कॉम्प्लैक्स में बम रखा गया है। यह बम एक गाड़ी में है, जो दोपहर 1 बजे फट जाएगा। पुलिस ने कोर्ट कांपलेक्स को खाली करवा दिया है और कोर्ट परिसर में सर्च ऑपरेशन किया जा रहा है। पुलिस का बम स्क्वॉड मौके पर पहुंच गया है। हालांकि कहा यह भी जा रहा है कि पुलिस को फोन पर बम होने की सूचना मिली थी। चंडीगढ़ की एसएसपी समेत एसपी सिटी, एसपी ऑपरेशन, डीएसपी और सभी आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं।

सेक्टर-43 और पंचकूला को 1 बजे बम से उड़ा दूंगा


जानकारी के मुताबिक पुलिस को मिले हिंदी में लिखे एक लेटर में लिखा है कि मैं आज सेक्टर 43 और पंचकूला को 1 बजे बम से उड़ा दूंगा। मेरी गाड़ी में बम भरा हुआ है, जो बाहर खड़ी है। पुलिस ने इसके बाद पूरा एरिया सील करके जिला अदालत की इमारत को खाली करवा दिया गया है। इलाके में तलाशी अभियान चलाकर बम की खोजा की जा रही है।

लोगों ने मॉकड्रिल समझा


जब पुलिस ने अपना ऑपरेशन शुरू किया तो अदालत में मौके पर मौजूद लोगों को लगा कि 26 जनवरी को देखते हुए शायद पुलिस मॉक ड्रिल कर रही है लेकिन फिर मामले का खुलासा हुआ। चंडीगढ़ पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हमें कंट्रोल रूम से सूचना मिली कि अदालत परिसर के अंदर बम हो सकता है। इसके बाद तलाशी अभियान शुरू किया गया है। कोर्ट परिसर को खाली करा लिया गया है। इलाके में पुलिस की तैनाती बढ़ा दी गई है। 

हाईकोर्ट की सुरक्षा बढ़ाई 


चंडीगढ़ जिला अदालत के अलावा पंचकूला अदालत में भी इस प्रकार की धमकी आई थी। वहां भी वकीलों, स्टाफ और अन्य लोगों को बाहर निकाल पुलिस ने सर्च की। दूसरी ओर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में भी पुलिस की सिक्योरिटी बढ़ा दी गई है।

एक ऐडवोकेट ने बताया, हमें तुरंत कोर्टरूम से निकलने को कहा गया। जजों, लेखा कर्मचारी और अन्य कर्मचारियों को भी तुरंत बाहर निकलने के कहा गया। कम से कम 100 पुलिसकर्मी कोर्टरूम की जांच करने पहुंचे थे। बता दें कि यह अदालत परिसर बेहद व्यस्त रहने वाले बस टर्मिनस के पास ही है। चारों ओर  पुलिस को तैनात कर दिया गया है। हालांकि अब तक कोई संदिग्ध वस्तु नहीं मिली है। 

Share this story