मध्य प्रदेश के ग्वालियर में कट्टा दिखाकर 1.20 करोड़ रुपए लूट, घटना सीसीटीवी में भी कैद

1.20 crore rupees looted in Gwalior, Madhya Pradesh by showing katta, this incident of robbery also captured in CCTV

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में लूट की बड़ी वारदात को अंजाम दिया गया है। शहर के बीचों बीच दो बाइक सवार लुटेरों ने कट्टा दिखाकर 1.20 करोड़ रुपए लूट लिए। ट्रेनिंग कंपनी के दो कर्मचारी कार से गाड़ी से राजीव प्लाजा के पास बैंक ऑफ बड़ौदा बैंक में पैसे जमा करने के लिए आए थे। बैंक से महज कुछ कदम की दूरी पर घात लगाए बैठे बाइक सवार बदमाशों ने गाड़ी को रोका और ड्राइवर की कनपटी पर कट्टा लगाकर 1.20 करोड़ रुपए लूट लिए।  

लूट की यह घटना सीसीटीवी में भी कैद हुई है। फुटेज में बाइक सवार दो बदमाश दिख रहे हैं। सूचना मिलने पर तत्काल पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच गए और छानबीन में लगे हुए। शहर के बीचों-बीच इंदरगंज थाना इलाके के राजीव प्लाजा के पास दो बाइक सवार नकाबपोश बदमाशों के द्वारा जिले की सबसे बड़ी लूट को अंजाम दिया गया है। बताया जा रहा है शहर के दीनदयाल नगर में स्थित हरेंद्र ट्रेडिंग कंपनी के कर्मचारी प्रमोद और सुनील गुर्जर वरना गाड़ी (एमपी 07 CF 6430) से बैंक में पैसे जमा करने के लिए आए थे।

इस गाड़ी में कुल 1.50 करोड़ रुपए रखे हुए थे। 1.20 लाख रुपए कार्टून में डिग्गी में थे 30 लाख ड्राइवर के पास आगे की सीट पर रखे थे। जैसे ही यह गाड़ी राजीव प्लाजा पार्किंग के पास पहुंची तभी अचानक दो बाइक सवार बदमाशों ने आगे से इस गाड़ी को रोका और ड्राइवर के कनपटी पर कट्टा दिया और उसके बाद गाड़ी में रखे सभी पैसों को लूट कर निकल गए। बताया जा रहा है या पैसा दीनदयाल नगर में स्थित हरेंद्र ट्रेडिंग कंपनी के मालिक मेहताब सिंह गुर्जर का है और उन्होंने इस पैसे को बैंक में जमा कराने के लिए अपने कर्मचारियों को भेजा था। 


लूट की घटना होली के बाद तत्काल मौके पर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी पहुंचे और गाड़ी में बैठी दोनों कर्मचारियों से पूछताछ की जा रही है। इसके साथ ही इस लूट की घटना का सीसीटीवी भी सामने आया है, जिसमें बाइक सवार नकाबपोश बदमाश इन पैसों को लूटते हुए नजर आ रहे हैं। इस मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ऋषिकेश मीणा का कहना है कि इस लूट कांड का खुलासा करने के लिए हमारी टीम लगी हुई है साथ ही संदिग्ध के तौर पर ट्रेडिंग कंपनी के कर्मचारी को हिरासत में लिया है जो वरना गाड़ी को चलाकर पैसे जमा करने के लिए बैंक में आया था। मामला संदिग्ध लग रहा है इससे पूछताछ की जा रही है।

Share this story