Cholesterol और High BP पर लगाम लगाएगा ये एक बीज, टल जाएगा Heart Attack का खतरा

This one seed will control cholesterol and high BP, the risk of heart attack will be averted

Alsi Ke Beej Ke Fayde: कोलेस्ट्रॉल और हाई ब्लड प्रेशर आज के जमाने की बड़ी समस्या बन चुका है, भारत ही नहीं दुनियाभर में काफी लोग इससे परेशान हैं, अगर इन दोनों पर कंट्रोल नहीं किया गया तो ये हार्ट अटैक जैसी जानलेवा बीमारी का कारण बन सकता है. आमतौर पर जब हम अनहेल्दी डाइट लेते हैं और फिजिकल एक्टिविटीज कम करते हैं, तो पेट और कमर के आसपास चर्बी बढ़ने लगती है, जिससे खून में बैड कोलेस्ट्रॉल बढ़ने लगता है, जिससे नसों में ब्लॉकेज होने लगती है और ब्लड को हार्ट तक पहुंचने में जोर लगाना पड़ता है, जो दिल के दौरे का कारण बन जाा है.

इस बीज से कम होगा बैड कोलेस्ट्रॉल?
भारत के मशहूर न्यूट्रिशन एक्सपर्ट निखिल वत्स (Nikhil Vats) ने बताया कि हाई कोलेस्ट्रॉल और हाई ब्लड प्रेशर से परेशान लोगों को रोजाना अलसी के बीजों (Flaxseed) का सेवन करना चाहिए इससे धमनियों में प्लाक कम होता है और ब्लड प्रेशर भी मैनेज किया जा सकता है. 

अलसी के बीजों में पाए जाने वाले पोषक तत्व
अलसी के बीजों (Flaxseeds) में विटामिन बी, विटामिन सी, विटामिन बी कॉम्प्लेक्स, प्रोटीन, आयरन, कैल्सियम,  पोटैशियम, फोस्फोरस, मैगनिशियम, मैगनीस, जिंक, फाइबर, कॉपर, सेलेनियम और कैरोटीन जैसे जरूर पोषक तत्व होते हैं, साथ ही इनमें एंटी-फंगल और एंटी-वायरल गुण पाए जाते हैं जो सेहत को कई तरह से फायदे पहुंचाते हैं.
 

फ्लैक्ससीड्स से कैसे कम होगा कोलेस्ट्रॉल
अलसी के बीजों का नियमित तौर से सेवन किया जाए तो इसकी मदद से खून में बैड कोलेस्ट्रॉल (Bad Cholesterol) को कम किया जा सकता है, खासकर पेरिफेरल आर्टरी डिजीज (Peripheral Artery Disease) से परेशान लोगों के लिए ये किसी औषधि से कम नहीं है

फ्लैक्ससीड्स में सॉल्युएबल फाइबर, ओमेगा-6 फैटी एसिड और ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है, ये सभी न्यूट्रिएंट्स हाई कोलेस्ट्रॉल के दुश्मन माने जाते हैं. इसमें मौजूद लिनोलेनिक एसिड (Linoleic Acid) दिल की पंपिंग को नॉर्मल बनाए रखता है.

किस तरह खाएं अलसी के बीज?
अगर हम रोजाना एक चम्मच या 5 ग्राम अलसी के बीजों को खाएंगे तो ये हमारी दिल की अच्छी सेहत के लिए काफी होगा. इसे भूनकर खाएं, आप चाहें तो इस दलिया या दही में मिला सकते हैं. इस बात का ख्याल रखें कि अगर आपको हाई पोटेशियम लेवल या किडनी डिजीज है तो इस न खाएं.

Share this story