ED में कैसे बन सकते हैं ऑफिसर और कितनी मिलती है सैलरी, ये रही पूरी डिटेल
How can an officer become an officer in ED and how much salary is available, here are the complete details

Assistant Enforcement Officer: प्रवर्तन निदेशालय एसएससी सीजीएल परीक्षा के माध्यम से हर साल सहायक प्रवर्तन अधिकारी प्रोफाइल के लिए अपनी भर्ती आयोजित करता है. परीक्षा आमतौर पर आयोग द्वारा इस प्रोफाइल पर उम्मीदवारों की नियुक्ति के लिए आयोजित की जाती है.

चयन प्रक्रिया को आयोग द्वारा रिवाइज किया गया है और अब इसे दो लेवल, टियर 1 और 2 में आयोजित किया जाएगा. फाइनल सिलेक्शन उनके हाई नंबरों और रैंक के साथ प्रवेश परीक्षा के लिए अर्हता प्राप्त करने के अधीन है. इंडक्शन के बाद, उम्मीदवार को प्रवर्तन निदेशालय और राजस्व विभाग के मुख्यालय, जोनल ऑफिस या सब डिवीजन ऑफिस में तैनात किया जाता है.

Assistant Enforcement Officer through SSC CGL Exam

असिस्टंट एनफोर्समेंट ऑफिसर आमतौर पर प्रवर्तन निदेशालय और राजस्व विभाग के तहत किसी भी विभाग को आवंटित किया जाता है. इसके लिए कैंडिडेट्स की आयु 21 साल से लेकर 30 साल के बीच होनी चाहिए. वहीं रिजर्व कैटेगरी के कैंडिडे्टस को सरकारी नियमों के मुताबिक छूट मिलती है. पढ़ाई की बात करें तो कैंडिडेट किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट होना चाहिए. 

सिलेक्शन प्रोसेस


असिस्टंट एनफोर्समेंट ऑफिसर के लिए चयन प्रक्रिया के दो लेवल हैं, टियर 1 और 2.


लेवल 1: टियर 1 परीक्षा ऑनलाइन मोड में आयोजित की जाएगी. परीक्षा में चार सब्जेक्ट, जनरल अवेयरनेस, क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड, जनरल इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग और इंग्लिश कॉम्प्रिहेंशन से ऑब्जेक्टिव सवाल होंगे.
टियर 2: टियर 2 परीक्षा में तीन पेपर होंगे, पेपर 1, 2 और 3. पेपर 1 सभी कैंडिडेट्स के लिए जरूरी है. हालांकि, पेपर 2 और 3 एएसओ और एएओ के लिए ऑप्शनल होंगे.

Assistant Enforcement Officer Job Profile


सहायक प्रवर्तन अधिकारी की जॉब प्रोफ़ाइल भारत सरकार के तहत एक ग्रुप बी गेजेटेड ऑफिसर है. प्रोफाइल न केवल एक आकर्षक सैलरी पैकेज के साथ है बल्कि नौकरी की सुरक्षा और विकास भी प्रदान करता है. एक सहायक प्रवर्तन अधिकारी को मूल वेतन के साथ बहुत सारे भत्ते मिलते हैं. एक सहायक प्रवर्तन अधिकारी की सैलरी की बात करें तो पे स्केल 7 के मुताबिक 44900 से लेकर 142400 रुपये महीना तक होती है.
 

Share this story