BPSC Paper Leak: BPSC का पेपरपरीक्षा से पहले ही सोशल मीडिया पर वायरल हुए प्रश्न पत्र, जबरदस्त हंगामा

BPSC paper leak, question paper went viral on social media even before the exam, tremendous uproar

BPSC Paper Leak : बिहार का लोक सेवा आयोग (BPSC) एक बार फिर चर्चाओं में है। एक बार फिर पेपर लीक (Paper Leak) की खबर ने राज्य का छवि पर दाग लगा दिया है। दरअसर रविवार को 67वीं संयुक्‍त प्रारंभिक परीक्षा (BPSC 67th Combined Preliminary Examination) की परीक्षा होनी थी लेकिन एग्जाम से पहले ही पेपर सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। अलग-अलग टेलीग्राम ग्रुप्स पर प्रश्न पत्र वायरल किए गए थे।

इन स्मार्ट टीवी पर महासेल: 6,999 में खरीदें Smart TV, सैमसंग-रियलमी जैसे ब्रैंड्स पर महासेल, आज है आखिरी दिन

जैसे ही परीक्षा खत्म हुई तो वायरल पेपर से इसको मिलाया गया और दोनों पेपर मैच कर गए। वहीं, पेपर लीक होने की खबर मिलते ही सियासत में भी भूचाल आ गया। बीपीएससी की तरफ से भी मामले की जांच के लिए कमेटी बना दी गई है। 24 घंटे में रिपोर्ट देने को कहा गया है।

आपको बता दें कि बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की 67वीं संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा के प्रश्न पत्र परीक्षा शुरू होने से लगभग 15 मिनट पहले वायरल होने की बात अभ्यर्थियों द्वारा कही जा रही है. दावा किया जा रहा है कि टेलीग्राम, ट्विटर, फेसबुक और व्हाट्सएप समेत अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से बीपीएससी 67वीं पीटी का पेपर वायरल किया गया. जिसे लेकर अभ्यर्थीयोंने विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर हंगामा किया.

दूसरी खबर ये है कि बीपीएससी के एक परीक्षार्थी की मौत हो गई है. बताया जा रहा है कि वो लखीसराय जिले में आर लाल कालेज परीक्षा केंद्र पर एग्जाम दे रहा था. इसी दौरान वह अचानक से बेहोश होकर गिर गया. आनन-फानन में उसे इलाज के लिए तत्काल सदर अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया. परीक्षार्थी का नाम उसके पास मिले आधार कार्ड और एडमिट कार्ड के मुताबिक बनारसी सिंह है, जो उत्तर प्रदेश के सोनभद्र का रहने वाला है.

आपको बता दें कि बीपीएससी (Bihar Public Service Commission) की संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा (Combined Competitive Examination) के लिए 1083 केंद्र बनाये गए थे. राजधानी पटना में 83 सेंटर बनाये गए थे. बीपीएससी 67वीं में 802 पदों के लिए परीक्षा में 5 लाख 18 हजार परीक्षार्थी शामिल होने वाले थे. जिसमें लड़कियों की संख्या भी डेढ़ लाख से अधिक है.

इस परीक्षा में शामिल होने के लिए 6 लाख दो हजार से अधिक छात्रों ने आवेदन किया था. एक पद के लिए लगभग 645 अभ्यर्थियों के बीच प्रतियोगिता हो रही है. सभी परीक्षा केन्द्रों पर ओएमआर और प्रश्न पहले ही भेज दिया गया था. सभी परीक्षा केन्द्रों पर धारा 144 लागू थी. परीक्षा केंद्र के 100 मीटर के दायरे में किसी तरह की दुकान और भीड़ लगाने की अनुमति नहीं थी. लेकिन सोशल मीडिया पर प्रश्न पत्र वायरल हो गया.

Share this story