Noida: लिफ्टर गैंग के 3 बदमाशों को पुलिस ने मारी गोली, बंधक व्यक्ति को किया बरामद

Police shot dead 3 miscreants of lifter gang, recovered the hostage

Noida Crime News: नोएडा में देर रात लिफ्टर गैंग और पुलिस की मुठभेड़ हुई। जिसमें तीन बदमाशों को पैर में गोली लगी। पुलिस ने अपहरण किए युवक को भी बरामद कर लिया। बदमाशों ने 12 दिन के अंदर दो बड़ी वारदात को अंजाम दिए थे। जिसमें तमिलनाडु के व्यक्ति को लिफ्ट देकर 3 लाख रुपए ATM से निकलवा लिए थे। वहीं, दूसरे युवक सत्यम से 85 हजार रुपए निकलवाए थे। पुलिस के मुताबिक, अबतक बदमाश 13 घटनाएं कर चुके है। जिसमें 8 घटनाएं गुरुग्राम और 5 नोएडा में शामिल है।

एडीसीपी आशुतोष द्विवेदी ने बताया, रविवार को एक व्यक्ति से बंधक बनाकर लूटपाट की। उसकी पहचान सुधीर कुमार निवासी बदरपुर के रूप में हुई है। इसे एडवंट टावर के पास से कालिंदी कुंज जाने के लिए कार में लिफ्ट दी। इसके बाद कुछ दूरी पर ही इससे एक लाख इसके अकाउंट से एटीएम के जरिए निकाल लिए।

पुलिस मुठभेड़ के बाद बदमाश को अस्पताल ले जाते पुलिस कर्मी

पुलिस मुठभेड़ के बाद बदमाश को अस्पताल ले जाते पुलिस कर्मी

परिवार से पहले अकाउंट में मंगवाए पैसे

सुधीर कुमार ने पुलिस को बताया कि तीनों बदमाशों ने उनको एडवंट टावर से शाम करीब साढ़े छह बजे के आस-पास लिफ्ट दी। इसके बाद तमंचा दिखाकर हाथ और आंख पर पट्‌टी बांध दी। कार में बंधक बनाकर घुमाते रहे। उसके अकाउंट में पैसे नहीं थे। इसलिए उन्होंने घरवालों को फोन कर अकाउंट में पैसे डलवाए। इसके बाद एटीएम से जाकर पैसे निकाले।

दो घंटे घुमाने के बाद पुलिस ने पीड़ित सुधीर को बचाया ।

दो घंटे घुमाने के बाद पुलिस ने पीड़ित सुधीर को बचाया ।

पुलिस ने कराया बंधक मुक्त

दो से ढाई घंटे तक घुमाने के बाद बदमाश सुधीर को सड़क किनारे फेंककर चले गए। जिस समय पुलिस सुधीर के पास पहुंची वह सड़क किनारे बंधक स्थित में पड़ा था। उसके हाथ बंधे थे। पुलिस ने उसे बंधक मुक्त कराया और मेडिकल के लिए भेजा है।

सड़क किनारे पड़ा सुधीर उसके हाथ बंधे हुए है जिसे पुलिस ने बरामद किया

सड़क किनारे पड़ा सुधीर उसके हाथ बंधे हुए है जिसे पुलिस ने बरामद किया

तीनों के पैर में लगी गोली
एडीसीपी आशुतोष द्विवेदी ने बताया कि इससे पहले भी ऐसी घटना हो चुकी थी। ऐसे में जिस कार यानी सिलेरियो से घटना को अंजाम देते थे उसका नंबर ट्रेस किया जा रहा था। इसे एक्सप्रेस वे पर देखा गया और तभी से सेक्टर-39 क्षेत्र में सेक्टर-98 में सर्विस रोड ओवर ब्रिज के पास चेकिंग की जा रही थी। वहां से गाड़ी निकलने लगी तो पुलिस ने रुकने का इशारा किया।

इसी गाड़ी में बदमाश लोगों को लिफ्ट देकर करते थे लूटपाट

इसी गाड़ी में बदमाश लोगों को लिफ्ट देकर करते थे लूटपाट

लेकिन बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। पुलिस ने जवाबी फायरिंग की। जिसमें तीनों बदमाशों के पैर में गोली लगी। इनकी पहचान सोनू उर्फ सुमित, योगेन्द्र प्रताप उर्फ योगी पुत्र श्रीपाल, अभि उर्फ रवि शर्मा पुत्र रामफल भोपुरा गाजियाबाद के है। आरोपियों के पासे से 3 तमंचा जिंदा व खोखा कारतूस व लूट के 86 हजार रुपए नगद बरामद किए गए है।

Share this story