Noida Crime News:MBBS में दाखिला दिलाने वाला फर्जी कंसल्टेंट संचालक अरेस्ट, नीट में फेल छात्रों से करते थे संपर्क; दाखिला के नाम लेते थे 20 से 35 लाख, 13 खाते सीज

Fake consultant operator who got admission in MBBS arrested: Used to contact students who failed in NEET; 20 to 35 lakhs were taken in the name of admission, 13 accounts seized

Noida Crime News: नीट की परीक्षा में फेल छात्रों को MBBS में दाखिल दिलाने के नाम ठगी का मामला सामने आया है। शुक्रवार को पुलिस ने करोड़ों की ठगी करने वाले एक अंतरराज्यीय गैंग के दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से पुलिस ने घटना में प्रयुक्त होने वाले मोबाइल फोन के सिम कार्ड डेबिट कार्ड फर्जी आधार कार्ड, मोबाइल फोन, अर्टिगा कार आदि बरामद की है।

पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) हरीश चंदर ने बताया कि लखनऊ की रहने वाली एक युवती दर्शिका ने कुछ दिन पहले थाना सेक्टर 126 में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। कुछ लोगों ने उससे MMBBS में दाखिले के नाम पर 13 लाख की ठगी की है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। DCP ने बताया कि सहायक पुलिस आयुक्त रजनीश वर्मा के नेतृत्व में घटना की जांच शुरू की गई। तब बदमाशों को पता चला।

पुलिस गिरफ्त में दोनों आरोपी

पुलिस गिरफ्त में दोनों आरोपी

उन्होंने बताया कि एक सूचना के आधार पर आज पुलिस ने इस घटना में शामिल दीपक निवासी बिहार तथा राजेश निवासी जनपद आजमगढ़ को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि इनका एक साथी यश चतुर्वेदी फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। इनके 13 बैंक खातों का पता चला है जिसमें ये लोग ठगी का पैसा जमा करवाते थे।

डीसीपी ने बताया कि जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि इन बदमाशों ने नोएडा के अलावा दिल्ली के मालवीय नगर ,लखनऊ, कानपुर में भी ऑफिस खोलकर लोगों से ठगी की है। पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि इन आरोपियों ने गुजरात, राजस्थान, दिल्ली, यूपी ,बिहार सहित विभिन्न प्रांत में रहने वाले दर्जनों छात्र- छात्राओं से करोड़ों की ठगी की है।

बरामद किए गए सिम , आधार और बैंक चेकबुक

बरामद किए गए सिम , आधार और बैंक चेकबुक

दाखिला के नाम पर लेते थे 20 से 35 लाख
नोएडा के इको टावर में इन लोगों ने TRUTH ADVISORS CAREER CONSULTANCY से खोला था। जिसमें पीड़िता से BGS ग्लोबल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल सांइंस बेंगलुरु में MBBS के कोर्स में दाखिला दिलाने के नाम पर कुल 13,98,000 रुपए लेकर फोन स्विच ऑफ कर अपना कार्यालय बंद कर फरार हो गए थे। ये लोग पहले छात्रों से संपर्क करते फिर जिस कॉलेज में दाखिला दिलाना होता उसके नजदीक के होटल में गैंग के अन्य लोगों से ये कहकर मिलवाते थे कि ये सभी कॉलेज के एडमिन में है। यही पर पैसों का लेनदेन होता था। यह गैंग अपने राज्य के कॉलेज में एडमिशन के नाम पर 30-35 लाख रुपए व अन्य राज्य में एडमिशन के नाम पर 20-25 लाख रुपए वसूलते थे।

13 खातों को किया गया सीज
इस गैंग ने HDFC,YES BANK,ICICI BANK, SBI BANK व INDUSIND BANK आदि बैंकों में 13 खाते अपने व अपने सहयोगियों के नाम से खोले थे। इन खातों में जालसाज़ी का पैसा ट्रांसफर करवाते थे। पुलिस ने इन खातों में जमा 2 लाख 80 हजार रुपए सीज किए।

फरार आरोपी यश चतुर्वेदी की फोटो दिखाते एसीपी

फरार आरोपी यश चतुर्वेदी की फोटो दिखाते एसीपी

चार साल से कर रहे थे ठगी
यह गैंग 3-4 सालों से इस तरह की घटनाएं कर रहा है। जो एक स्थान पर लगभग 1-2 माह संचालित होकर अपना ऑफिस खाली कर गायब हो जाते थे। अभी तक मालवीय नगर ,कानपुर, लखनऊ, नोएडा आदि शहरों में इनके ऑफिस रहने का पता चला है। यह गैंग अपने ऑफिस में रीसैप्शन पर 15 दिन या 1 माह से ज्यादा किसी कर्मचारी को नहीं रखते थे। कुछ की सैलरी दिये बिना ही ऑफिस खाली कर गायब हो गए।

Share this story