Prayagraj News: प्रयागराज के अटाला में हुई हिंसा के मास्टर माइंड जावेद पंप को मिली जमानत:10 जून को जुमे की नमाज के बाद अटाला में हुआ था बवाल
Javed Pump, the master mind of the violence in Prayagraj's Atala, got bail: After Friday prayers on June 10, there was a ruckus in Atala

प्रयागराज के अटाला में हुई हिंसा के मामले में गिरफ्तार किए गए कथित मास्टरमाइंड बताए गए जावेद मोहम्मद पंप को न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने जमानत दे दी। अधिवक्ता मंच के अधिवक्ता शम्सुल इस्लाम के बहस पर, फेसबुक पर कथित विवादित पोस्ट लिखने पर दर्ज प्राथमिकी में जमानत दी है। जमानत आदेश के अनुसार पुलिस समय देने के बावजूद जावेद मोहम्मद का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं प्रस्तुत कर सकी।

जावेद मोहम्मद पर आरोप था कि उसने फेसबुक पर पोस्ट लिखकर शहर का अमन चैन बिगाड़ने की कोशिश की । वहीं उसके अधिवक्ता का तर्क था कि फेसबुक और व्हाट्सएप के माध्यम से जावेद मोहम्मद ने शहर के नागरिकों को मुस्लिम समाज को शांति से रहने और कानून को अपने हाथ में न लेने की अपील की थी ।

Gurugram News: गुरुग्राम में कुख्यात गैंगस्टर सूबे गुर्जर की हवेली पर चला बुलडोजर

10 जून को जुमे की नमाज के बाद हुआ था बवाल

10 जून को जुमे की नमाज के बाद अटाला स्थित मस्जिद के पास से शुरू हुआ बवाल नुरुल्लारोड, अकबरपुर और करेली तक हुआ था। भाजपा से निष्कासित प्रवक्ता नूपुर शर्मा के बयान के बाद भड़के मुस्लिम समुदाय के लोगों ने पुलिस पर जमकर पत्थरबाजी और बमबाजी की थी। इस दौरान आधा दर्जन से अधिक पुलिस और पीएसी की गाड़ियों को अराजक तत्वों ने फूंक दिया था।

Prayagraj's

देवरिया जेल में बंद है जावेद मोहम्मद

अटाला हिंसा मामले में 24 घंटे बाद जावेद मोहम्मद पंप को हिंसा रचने और भड़काने के मामले में पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इस पर खुल्दाबाद और करेली थाने में कुल पांच FIR में नामजद किया गया था । वहीं 12 जून को जावेद मोहम्मद के नाम पर उनकी पत्नी परवीन फातिमा के नाम पर निर्मित मकान को बुलडोजर से गिरा दिया गया था। जावेद पंप इस समय देवरिया जेल में बंद है।

प्रयागराज हिंसा में 95 नामजद और 5400 अज्ञात हैं आरोपी

  • कुल 92 नाजमद आरोपी अब तक गिरफ्तार किए जा चुके हैं। इन सभी को जेल भेज दिया गया है।
  • अटाला में जिस दिन बवाल हुआ उसके एक दिन पहले तक 300 मोबाइल सक्रिय मिले थे। जिनमें रातभर बातचीत होती रही। पुलिस इन्हें ट्रेस कर रही है कि वे नंबर किसके हैं।
  • नगर निगम ने 42 अवैध दुकानों की पहचान की है।
  • PDA यानी प्रयागराज प्राधिकरण ने 37 उपद्रवियों के मकान की पहचान की है।

Share this story