Noida News: रफ्तार पर लगेगी लगाम! नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर 100 की जगह 80 किमी प्रति किमी. होगी लिमिट; हादसों में कमी लाने के लिए तैयार किया गया प्रपोजल
Speed ​​will be controlled: 80 kmph instead of 100 on the Noida-Greater Noida Expressway. will limit; Proposal prepared to reduce accidents

Noida News: नोएडा में यातायात का दबाव बढ़ता जा रहा है। इसके लिए अब सभी सड़कों पर स्पीड लिमिट दोबारा से तय की जा रही है। मुख्य सड़कों पर 60, अंदर की सड़कों पर 40 और एक्सप्रेस वे पर 80 किमी प्रति घंटा रफ्तार होगी। इसका एक प्रस्ताव तैयार किया गया है। इस प्रस्ताव को मुख्य कार्यपालक अधिकारी के सामने रखा जाएगा। वहां से हरी झंडी मिलते ही साइन बोर्ड तैयार कर इसे सड़कों पर लगाया जाएगा। साथ ही ITMS के तहत लगे स्पीड डिटेक्शन कैमरों को भी इसी स्पीड के अनुसार फिक्स किया जाएगा।

मुजफ्फरनगर: लूट का विरोध करने पर युवक की गोली मारकर हत्या, सीढ़ी लगाकर घर में घुसे थे बदमाश

मास्टर प्लान रोड पर होगी ये स्पीड लिमिट


#नोएडा (#noida) को दिल्ली और अन्य शहरों से जोड़ने के लिए तीन मुख्य सड़क है। इन सड़कों के दोनों ओर सेक्टर और गांव बसे हुए है। इसमे मास्टर प्लान रोड नंबर-1 , 2 और 3 है। इसके अलावा डीएससी (दादरी सुरजपुर छलेरा) रोड है। ये रोड दिल्ली को नोएडा और ग्रेटरनोएडा वाया कुलेसरा होकर जोड़ती है। इन चारों रोड पर अधिकतम स्पीड लिमिट 60 किमी प्रतिघंटा रखने का प्रस्ताव है। हालांकि डीएससी रोड शहर के बड़े बाजार यानी अट्‌टा और सेक्टर-18 को जोड़ता है। ऐसे में यहां स्पीड लिमिट कम की जाएगी।

एक्सप्रेस-वे की कम की जा रही स्पीड लिमिट


नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर अब तक वाहनों की स्पीड लिमिट 100 किमी प्रतिघंटा तय थी, लेकिन वाहनों की संख्या बढ़ने और सर्दी नजदीक होने से इसकी स्पीड लिमिट को घटाकर 80 किमी प्रतिघंटा किया जा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि इससे दुर्घटनाओं में कमी जाएगी। ये पूरा एक्सप्रेस वे सर्विलांस पर है।

सिग्नल फ्री की जा रही एमपी-1 रोड


नोएडा की मास्टर प्लान रोड नंबर-1 को सिग्नल फ्री किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट को 30 सितंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। हालांकि ट्रैफिक पुलिस ने यहां चौड़ा मोड को सिग्नल फ्री करने पर आपत्ति जताई है। ऐसे में इस चौराहे का सर्वे दोबारा से सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीआरआरआई) से कराया जाएगा। इसके बाद इसे सिग्नल फ्री किया जाएगा।

मॉडल सड़कों पर काम तेज


नोएडा की इन मुख्य सड़कों को मॉडल रोड के रूप में विकसित किया जाना है। इसके लिए ट्रायल रन (पायलट प्रोजेक्ट) तैयार किया जा रहा है। जिसका काम अंतिम चरण में है। ट्रायल मॉडल बनने के बाद इसे सीईओ के समक्ष रखा जाएगा। एप्रूवल मिलते ही तीनों को मुख्य सड़कों को मॉडल रोड में कनवर्ट किया जाएगा।

मॉडल सड़कों पर ये मिलेंगी सुविधाएं

  • वाईफाई कनेक्टिविटी से जोड़ा जाएगा।
  • स्मार्ट बैंच, स्मार्ट बस स्टैंड, टैक्सी स्टैंड, अंडरग्राउंड डस्टबीन।ं
  • स्मार्ट एटीएम , क्योस्क को भी शामिल किया गया है।

सभी सड़के ITMS से हो गई है कनेक्ट


नोएडा की सभी सड़कों को ITMS से जोड़ा जा चुका है। इसके लिए 155 किमी के फाइबर बिछाए गए हैं। इसमें 82 स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इन कैमरों से सड़कों पर निगरानी की जा रही है। साथ ही ऑनलाइन चालान भी जनरेट किए जा रहे हैं।

Share this story