Meerut News: तेंदुआ की दहशत के बाद मुनादी, बच्चों को अकेले बाहर न निकालें, दिखने पर इन नंबरों पर दें सूचना

Meerut News: Munadi after the panic of leopard, do not take the children out alone, give information on these numbers

Meerut News:  मेरठ कैंट क्षेत्र में तेंदुए की दहशत बनी हुई है। छावनी परिषद ने मंगलवार को दोपहर गांधी बाग के आसपास मुनादी कराई कि तेंदुआ दिखाई देने की सूचना मिली है। ऐसे में अकेले न निकलें और बच्चों को बाहर न निकालें। सावधान रहे सुरक्षित रहें। मुनादी की गूंज जैसे ही गांधी बाग में लोगों ने सूनी। तो बड़ी संख्या में लोग बाहर निकल आए। इसके पहले बड़ी संख्या में पार्क में लोग गुनगुनी धूप का आनंद ले रहे थे।

कांबिंग में नहीं मिला तेंदुआ का सुराग


सोमवार की रात एक कार सवार महिला ने गांधी बाग के गेट नंबर तीन के पास तेंदुए को छलांग मार कर सड़क पार करते हुए देखा था। सोमवार की रात और मंगलवार को दिन में वन विभाग की टीमों ने मौके पर जा कर कांबिंग की लेकिन कोई सुराग नहीं लगा। वन कर्मियों ने गांधी बाग के चारो ओर तेंदुए के पग चिन्ह ट्रेस करने का प्रयास भी किया। छावनी परिषद ने मंगलवार शाम को गांधी बाग के आसपास के क्षेत्र में मुनादी कराई। तेंदुआ दिखाई देने की सूचना मिली है। अकेले न निकलें। रात आठ बजे के बाद घर से बाहर न निकले। सुरक्षित रहें।

वन विभाग ने लगाए हैं पिंजरे


छावनी परिषद से राजस्व निरीक्षक हितेश राय ने कहा कि विभाग की टीम को सूचित किया गया है कि क्षेत्र में तेंदुआ देखे जाने की सूचना मिली है। एहतियात के तौर पर मुनादी कराई गई है। वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि लोगों की सूचना के आधार पर तेंदुए को गांधी बाग के पीछे की तरह बनी कैंटीन की तरफ जाते देखा गया है। इसके पीछे सैन्य क्षेत्र का जंगल है। यह वही इलाका है जहां मई से लगातार तेंदुए को देखा जा रहा है। यहां पर विभाग द्वारा तीन पिंजरे लगाए हैं।

तेंदुआ दिखने पर इन नंबरों पर दें सूचना

  • क्षेत्रीय वन अधिकारी 7078088105
  • वन्य जीव रक्षक 8279496937
  • 9917313608
  • 7536058243

डीएफओ ने की अपील


डीएफओ राजेश कुमार ने बताया कि तेंदुए को रेस्क्यु करने के लिए पांच टीमें लगाई गई हैं। ज्वाला नगर में दिखा तेंदुआ ही आरवीसी सेंटर में है यह अभी नहीं कहा जा सकता। वीडियो काफी दूर के हैं। देर शाम गांधी बाग के आसपास सूचना पर टीम पहुंची तो पता लगा वायरल वीडियो दूसरे जनपद का था। ऐसे में लोगों से अपील है कि वह कोई सूचना मिलता है तो वन विभाग को दें। अफवाह न फैलाएं। 

Share this story