मेरठ: अवैध मीट कारोबारी बसपा नेता पूर्व मंत्री हाजी याकूब कुरैशी की पत्नी दोनों बेटों पर गैंगस्टर

Meerut: Gangster on both sons, wife of illegal meat trader BSP leader former minister Haji Yakub Qureshi

उत्तर प्रदेश: मेरठ (Meerut) में  बसपा नेता और पूर्व मंत्री हाजी याकूब कुरैशी  और उसकी पत्नी व दोनों बेटों समेत सात लोगों पर गुरुवार देर रात खरखौदा थाने में गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज कर लिया गया। विधिक राय के बाद रात को डीएम की संस्तुति के बाद गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज किया गया। विगत कई वर्षों से अवैध मीट का कारोबार करने की पुष्टि के बाद मुकदमा पंजीकृत किया गया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ संबंधित धारों में मुकदमा दर्ज कर साक्ष्यों पर जांच शुरु कर दी है।

परिवार पर गैंगस्टर लगाने की तैयारी कर रही थी पुलिस 


उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) जनपद के खरखौदा थाना क्षेत्र के अल्लीपुर जिजमाना में स्थित अल फहीम मीटेक्स प्राइवेट लिमिटेड का पूरा रिकॉर्ड पुलिस ने अपने कब्जे में लेने के बाद पुलिस जांच के अनुसार, ये फैक्ट्री बसपा नेता व पूर्व मंत्री हाजी याकूब कुरैशी की पत्नी शमजिदा बेगम, बेटे इमरान कुरैशी और फिरोज उर्फ भूरा के नाम है। याकूब कुरैशी भी बेटों की फैक्ट्री में देखभाल के लिए जाता था। पुलिस ने उसके परिवार के सभी सदस्यों आपराधिक रिकॉर्ड भी खंगालना शुरु कर दिया था ।  इसके साथ ही इमरान और फिरोज की अवैध तरीके से कमाई संपत्ति की जांच भी की गयी थी जिसके बाद गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज कर लिया गया ।

कार्रवाई के बाद पुलिस ने किया खुलासा


दरअसल, अल्लीपुर जिजमाना की मीट फैक्ट्री पर प्रशासन ने 31 मार्च को छापेमार कार्रवाई कर 19 घंटे तक जांच की थी। जांच के दौरान फैक्ट्री में पुराना मीट मिलने के साथ ही बड़ी मात्रा में पैक मीट भी मिला था। एमडीए ने रात में ही फैक्ट्री को दोबारा सील कर दिया। खुले में रखे 67 कुंतल मीट से तेज दुर्गंध उठने के कारण इसे नष्ट करने की कार्रवाई भी शुरू कर दी थी और 10 लोगों की गिरफ्तारी की थी। हाजी याकूब पत्नी और दोनों बेटों इमरान और फिरोज समेत 14 आरोपियों पर मुकदमा दर्ज किया गया था।

दस्तावेज अधूरे होने की वजह से दो बार वापस हुई गैंगस्टर कार्रवाई की फाइल


अल फहीम मीटेक्स प्राइवेट लिमिटेड पर छापेमार के बाद हाजी याकूब समेत सात आरोपियों पर गैंगस्टर की कार्यवाही शुरू की गई थी । इस फाइल में दो बार आपत्ती लगाने और दस्तावेज अधूरे होने की वजह से फाइल वापस लौट गई थी। गैंगस्टर की फाइल को विधिक राय के लिए अभियोजन के पास भेजा गया और तमाम कमियां पूरी होने के बाद फाइल एसएसपी रोहित सजवान के पास पहुंची थी।

एसएसपी ने फाइल पढ़ने के बाद गुरुवार को ही डीएम मेरठ दीपक मीणा से बात की और फाइल को उनके पास भिजवा दिया। इसके बाद खरखौदा थाने में हाजी याकूब कुरैशी, उसकी पत्नी संजीदा बेगम, दोनों बेटे इमरान और फिरोज समेत मैनेजर मोहित त्यागी, मुजीब और फैजाब के खिलाफ गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज कर लिया गया। फिलहाल हाजी याकूब कुरैशी और उसके बेटे फरार हैं और उनकी तलाश की जा रही है।


 

डिलीट किया जाएगा गैंगस्टर याकूब कुरैशी का वेरीफाइड फेसबुक अकाउंट ?


बसपा नेता और पूर्व मंत्री हाजी याकूब कुरैशी का सोशल मीडिया पर अकाउंट बना हुआ है फेसबुक पर एक लाख से ज्यादा लोग गैंगस्टर याकूब कुरैशी को फॉलो करते हैं जो अकाउंट वेरीफाइड भी है। अब इससे समाज में एक गलत तरीके की अवधारणा पैदा होती है कि यदि गैंगस्टर का भी फेसबुक पर वेरीफाइड अकाउंट मौजूद हैं तो फिर सही और गलत का फर्क कैसे किया जाएगा अब देखना यह होगा कि क्या मेरठ पुलिस इस वेरीफाइड फेसबुक अकाउंट को बंद करती है या नहीं । 


 

Share this story