मेरठ में सरकारी जमीन कब्जाने के चक्कर में 2 पक्ष में खूनी संघर्ष, गंगा किनारे खुलेआम फायरिंग, 11 लोग घायल

Bloody clash between 2 sides in Meerut over possession of government land, open firing on the banks of the Ganges, 11 people injured

Meerut News: मेरठ में सरकारी जमीन कब्जाने के चक्कर में 2 पक्ष में खूनी संघर्ष का वीडियो सामने आया है। गंगा किनारे की जमीन पर खेती करने के लिए दो पक्ष में जबरदस्त टकराव हुआ। दोनों पक्षों में मारपीट हुई। फायरिंग की गई। पुलिस ने वीडियो के आधार पर 14 लोगों के खिलाफ एफआईआर लिखी है। 6 बवाल करने वालों को जेल भेजा है। इस बवाल में दोनों पक्षों के 11 लोग घायल हैं।

दोनों पक्षों में जमकर खूनी संघर्ष

मेरठ के हस्तिनापुर क्षेत्र के जलालपुर जोरा गांव में सोमवार को गंगा किनारे की सरकारी जमीन पर खेती करने के चक्कर में दो पक्षों में विवाद हो गया। इस संबंध में बुधवार को निषाद समाज के लोगों ने एसएसपी को अपनी शिकायत दी। बताया कि गंगा किनारे की सरकारी जमीन पर गुर्जर और निषाद दोनों समाज के लोग बराबर हिस्से में खेती करते हैं। सालों से ऐसा हो रहा है।

अब गुर्जर, निषादों की जमीन कब्जाना चाहते हैं। इसी बात पर सोमवार को कहासुनी हुई। कहासुनी इतनी बढ़ी कि दोनों पक्षों में लाठी, डंडे चलने लगे। मारपीट खूनी संघर्ष में बदल गई। लोगों ने पुलिस को बताया कि इस दौरान फायरिंग भी हुई। लड़ाई का जो वीडियो वायरल हो रहा है उसमें दोनों पक्षों में जमकर मारपीट हो रही है।

मारापीटा, ट्रेक्टर भी छीन लिए

जिस वक्त दोनों पक्षों में संघर्ष हुआ उस समय दोनों पक्ष के लोग खेत में ट्रेक्टर चला रहे थे। कप्तान से मिलने पहुंचे निषाद पक्ष के लोगों ने कहा कि उनके ट्रेक्टर भी छीन लिए गए हैं। कहा कि कि थाना पुलिस ने मामले में आधे लोगों का मेडिकल कराया, आधे का मेडिकल कराने से इनकार कर दिया।

पुलिस ने किए 14 नामजद, 6 गिरफ्तार

थाना प्रभारी बच्चू सिंह के अनुसार मामले में 14 लोगों ब्रह्म सिंह, सतवीर, विनोद, बोबी, रामपाल, रिंकु, पिंटू व पाल, पुरुषोत्तम, भारत, लीलू, सुरेश, सोनू, कौशेंद्र सहित आठ से दस अज्ञात के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज हुई है। छ लोगों सुरेश, कोशिंद्र, बबलू, रिंकू, बॉबी व ब्रह्म सिंह को जेल भेज दिया गया है। अवैध कब्जा करने वालों के विरुद्ध पुलिस कार्यवाही कर रही है। मौके पर भद्रकाली चौकी प्रभारी वीरपाल सिंह घटनास्थल पर पहुंचे तब तक वहां से सभी लोग चले गये थे।

Share this story