गुरुग्राम: सुखबीर हत्याकांड का मास्टर माइंड गिरफ्तार; गैंगस्टर पपला के गुर्गे ने अंजाम दी थी वारदात; गुरुग्राम STF ने पकड़ा; मर्डर से पहले की थी रैकी
Gurugram: Master mind of Sukhbir murder case arrested; Gangster Papala's henchmen had carried out the incident; Gurugram STF caught; was raided before the murder

Gurugram News: हरियाणा के गुरुग्राम में भाजपा नेता एवं सोहना मार्केट कमेटी के पूर्व चेयरमैन सुखबीर उर्फ सुखी हत्याकांड के मास्टर माइंड चमन को STF ने गिरफ्तार कर लिया है। चमन राजस्थान और हरियाणा के कुख्यात गैंगस्टर विक्रम उर्फ पपला गुर्जर का शार्प शूटर है। उसे बादशापुर एरिया से अरेस्ट किया गया है। गिरफ्तार किया गया आरोपी चमन बादशाहपुर का रहने वाला है और मृतक सुखबीर का सगा साला है।

Gurugram News: गुरुग्राम में कुख्यात गैंगस्टर सूबे गुर्जर की हवेली पर चला बुलडोजर

बता दें कि 1 सितंबर को भाजपा नेता एवं पूर्व मार्केट कमेटी चेयरमैन सुखबीर उर्फ सुखी की उस वक्त दिन दहाड़े हत्या कर दी गई थी जब वह भीड़भाड़ वाले इलाके सदर बाजार में अग्रवाल धर्मशाला चौक स्थित रेमंड के शोरूम पर कपड़े लेने गए थे। उन्हें 6 से ज्यादा गोलियां मारी गई थी। हत्याकांड को मुख्य आरोपी चमन ने अपने साथी राहुल, अंकुल, दीपक, योगेश उर्फ शीलू के साथ मिलकर अंजाम दिया था। आरोपी चमन ने बताया कि वर्ष 2008 में मृतक सुखबीर ने उसकी बहन पुष्पा से लव मैरिज कर ली थी, जिस कारण सुखबीर से रंजिश रखता था। सुखबीर को मारने की रंजिश के तहत ही वह गैंगस्टर पपला गुर्जर के नजदीक आया था।

गैंगस्टर चीकू की हत्या की भी साजिश रच चुका

एसटीएफ गुरुग्राम इंचार्ज रामनिवास ने बताया कि चमन ने सुखबीर की हत्या से पहले 10-12 दिन उसकी रैकी की थी। इसके बाद वारदात को अंजाम दिया। चमन ने वर्ष 2015 में गैंगस्टर पपला गुर्जर के सबसे बड़े विरोधी गैंगस्टर सुरेन्द्र उर्फ चीकू की हत्या की साजिश भी रची थी। लेकिन इससे पहले वह कामयाब होता राजस्थान के बहरोड़ में पकड़ा गया। इसके अलावा गैंगस्टर पपला गुर्जर को बहरोड़ थाना में फायरिंग कर छुड़ाने में भी चमन शामिल था।

2011 में पपला गैंग में शामिल हुआ

बदमाश चमन के खिलाफ गुरुग्राम के अलावा महेन्द्रगढ़ व राजस्थान में हत्या, हत्या का प्रयास, पुलिस पर फायरिंग कर आरोपी को छुड़ाने जैसे काफी संगीन मामले दर्ज है। चमन पर पहली बार 2010 में बादशाहपुर थाना में लड़ाई-झगड़े का केस दर्ज हुआ था। इसके बाद चमन अपराध की दुनिया में बादशाह बने के लिए बड़े गैंगस्टर के संपर्क में आ गया। पपला के इशारे पर उसने काफी वारदातें की और 1 सितंबर को उसने गुरुग्राम में भाजपा नेता सुखबीर उर्फ सुखी की हत्या कर दी। एसटीएफ टीम ने चमन को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया है।

चमन के खिलाफ दर्ज मुकदमे


1. वर्ष 2010/11 मे लडाई झगडा थाना बादशाहपुर
2. अभियोग संख्या 347 दिनांक 20.08.2014 धारा 323, 324, 427, 341, 506 IPC थाना बादशाहपुर जिला गुरूग्राम।
3. वर्ष 2015 में 302, 120बी IPC थाना नांगल चौधरी जिला महेन्द्रगढ।
4. अभियोग संख्या 15 दिनांक 07.01.2015 धारा 323, 384 IPC थाना बादशाहपुर जिला गुरूग्राम।
5. वर्ष 2016 मे आर्म्स एक्ट थाना सोहना जिला गुरूग्राम।
6. वर्ष 2019 में एक्सीडेन्ट व झगडे का केस थाना बादशाहपुर।
7. वर्ष 2019 में गंगैस्टर सुरेन्द्र उर्फ चीकू को मारने की साजिश थाना चौपांकी राजस्थान।
8. अभियोग संख्या 741/19 147, 148, 149, 332, 353, 307, 224, 225, 452 IPC & 4 PDPP ACT & 7/27 A.ACT थाना बहरोड जिला अलवर राजस्थान।
9. अभियोग संख्या 216 दिनांक 01.09.2022 धारा 302,120बी IPC व शस्त्र अधिनियम थाना सिविल लाईन जिला गुरूग्राम।

Share this story