Greater Noida News: ग्रेटर नोएडा में दिल दहलाने वाला वीडियो आया सामने, मिट्टी का बोरा गिरने से युवक हुआ बेहाश, देखें वीडियो

Shocking video surfaced in Greater Noida, young man fainted after falling earthen sack, watch video

Greater Noida News: ग्रेटर नोएडा दादरी कोतवाली कस्बे में एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। बताया जाता है कि यहां एक युवक रास्ते से गुजर रहा था तभी दूसरी मंजिल से किसी ने मिट्टी से भरी बोरी ऊपर से नीचे गिरा दी। इस बोरी की चपेट में आकर युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। युवक कुछ देर तक जमीन पर बुरी तरह तड़पता रहा। आस पास के लोग दौड़े और आनन फानन में युवक को अस्पताल पहुंचाया गया। पूरी घटना घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। स्थानीय लोगों का कहना है कि घायल युवक अस्पताल में मौत से जिंदगी के लिए संघर्ष कर रहा है। 

घटना का वीडियो वायरल 


बताया जाता है कि मेवातियान मौहल्ला निवासी रिजवान शुक्रवार को घर से नमाज पढ़ने के लिये पैदल जा रहा था। जब वह कटेहरा रोड से गुजर रहा था तभी एक मकान की दूसरी मंजिल से मिट्टी से भरा बोरा अचानक उसके सिर पर आ गिरा। मिट्टी भरा बोरा सर पर गिरने से वह बेहोश होकर गिर गया। करीब 20 सेकंड तक वह पड़ा रहा। उसके बाद आसपास के लोग उसके पास पहुंचे। लोगों ने उसे उठाने की कोशिश की लेकिन वह अचेत था। रिजवान को उपचार के लिये पास के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। रास्ते में लगे सीसीटीवी कैमरे में यह घटना कैद हो गई। घटना का वीडियो सोशल मिडिया पर वायरल हो रहा है।

घटना से लोग हैरान 


सीसीटीवी के फुटेज में देखा जा सकता है कि बोरी की चपेट में आया रिजवान तुरंत गिर जाता है। पहले तो उसकी बॉडी में कोई हरकत नहीं होती है। बाद में उसे तड़पता देखा जा सकता है। आस पास मौजूद लोग तुरंत युवक के पास पहुंचकर उसे उठाने की कोशिशें करते हैं लेकिन बुरी तरह घायल रिजवान अचेत हो जाता है। देखने से ऐसा लग रहा है कि इस गली में कोई कंस्ट्रक्शन का काम हो रहा था। अमूमन ऐसी घटनाओं में लोगों को संभलने का कोई मौका नहीं मिल पाता है। ऐसी घटनाएं लोगों को चौंकाती हैं। यह घटना चर्चा का विषय बन गई है। इस घटना से लोग हैरान हैं।  


नोएडा में बहुमंजिला इमारतों के संरचनात्मक ऑडिट को मंजूरी 


वहीं समाचार एजेंसी पीटीआई भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक नोएडा प्राधिकरण बोर्ड ने शहर में बहुमंजिला इमारतों के संरचनात्मक ऑडिट के लिए एक नीति प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है यह नीति बिल्डर के साथ-साथ रेजिडेंट्स एसोसिएशन की भूमिकाओं एवं जिम्मेदारियों के अनुपालन में मददगार होगी। यही नहीं इस नीति से ऑडिट के दौरान दोषपूर्ण पाए जाने पर इमारतों एवं संरचनाओं की मरम्मत का रास्ता भी खुलेगा। इस नीति को लागू होने में करीब एक सप्ताह का समय लगेगा। नोएडा में लगभग 100 बहुमंजिला इमारत परियोजनाएं हैं, जिनमें कई टावर भी हैं।

Share this story