Ghaziabad News: पति की खौफनाक हत्या, पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर कुल्हाड़ी से काटकर घर में दफनाया, 4 साल बाद खुला राज

गाजियाबाद: पति की खौफनाक हत्या, पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर कुल्हाड़ी से काटकर घर में दफनाया, 4 साल बाद खुला राज

Ghaziabad Crime News: गाजियाबाद पुलिस ने 4 साल से लापता युवक की हत्या के मामले में सनसनीखेज खुलासा किया है. पुलिस ने मृतक की पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है. उनकी निशानदेही पर पुलिस ने चंद्रवीर उर्फ पप्पू की शव को घर के अंदर से गड्ढा खोदकर बरामद किया है. 

दरअसल, 5 अक्टूबर 2018 को सिहानी गेट इलाके में रहने वाले भूरे सिंह ने एफआईआर दर्ज कराई थी. उनके भाई 46 साल के चंद्रवीर 28 सितंबर से कहीं लापता हैं. अभी तक उनका कोई पता नहीं चल सका है. इसके बाद गाजियाबाद पुलिस ने मामला दर्ज कर गुमशुदगी को सुलझाने में लग गई थी. मगर, बाद में मामले को क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया. 

Noida News: नोएडा पुलिस ने पकड़ी लाखों की शराब:पुलिस को देखकर ट्रक छोड़कर फरार हुए चालक और अन्य आरोपी

क्राइम ब्रांच ने शक के आधार पर लापता चंद्रवीर की पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद दोनों से पूछताछ की गई. शुरुआद में दोनों ने कुछ नहीं बताया. मगर, क्राइम ब्रांच की कड़ाई के आगे दोनों टूट गए और हत्या की बात कबुल कर ली. पूछताछ में आरोपी अरुण उर्फ अनिल और मृतक की पत्नी सविता ने बताया कि दोनों 2017 से एक दूसरे को प्यार करने लगे थे. 

पति और परिजनों को अवैध संबंध की हो गई थी जानकारी 

उनके प्रेम-प्रसंग की जानकारी मृतक (पति) और उसके परिवार वालों को हो गई थी. कई बार उन्होंने हम दोनों को आपत्तिजनक हालत में देख लिया था. मना करने के बाद भी हम छुपते-छुपाते एक-दूसरे से मिलते रहते थे. इस बात को लेकर मृतक सविता को मारता पीटता भी था. हमें लगा कि अब हमारे अवैध संबंध नहीं चल पाएंगे.

हत्या करके घर में दफनाया 

इसके बाद दोनों ने मिलकर प्लान बनाया कि चंद्रवीर को ही रास्ते से हटा दिया जाए. इससे हमें कोई रोकने वाला नहीं रहेगा. प्लान के तहत अरुण ने 6 फिट का गड्ढा अपने मकान के बरामदे में खोद रखा था. इसके बाद 28 सितंबर 2018 की रात चंद्रवीर शराब पीकर घर आया और सो गया. फिर सविता ने अरुण को बुला लिया. अरुण ने तमंचे से सोए हुए में चंद्रवीर के सिर में गोली मार दी. 

आरोपियों ने सर के नीचे एक प्लास्टिक की बाल्टी रख दी. इसमें मृतक का खून गिरने लगा. खून गिरना बंद हो गया, तो अरुण ने चंद्रवीर की लाश को सविता की मदद से अपने घर में पहले से खोदे गए गड्ढे में दफना दी. मृतक चंद्रवीर अपने दाहिने हाथ में स्टील का कड़ा पहन रखा था. इसे निकालने का प्रयास किया. मगर, वह नहीं निकल पाया, तो अरुण ने कुल्हाड़ी से उसकी कलाई दी.  

हत्या का राज न खुले इसकी रची साजिश 

आरोपियों ने मृतक का कटा हुआ हाथ सिकरोड़ गांव के पास केमिकल फैक्ट्री के पास बोरे में लपेटकर फेंक दिया. कुल्हाड़ी और तमंचा सविता के मकान में ईट के नीचे दबाकर रख दिया. कुछ दिन बाद उस जगह पर पक्का फर्श बना दिया गया. घटना के बाद सविता ने पति की गायब होने का आरोप उसके भाई भूरा पर डालना चाह रही थी.

इसके लिए शिकायत लेकर वह बार-बार पुलिस और गांव के सम्मानित लोगों के पास जाती थी, ताकि कोई उसके ऊपर कोई शक न करे. इस सनसनीखेज हत्या में मृतक चंद्रवीर उर्फ पप्पू की पत्नी सविता और पड़ोसी अरुण उर्फ अनिल दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है. शव को घर के गड्ढे से बरामद कर लिया गया है.

Share this story