Faridabad News: फरीदाबाद में गर्लफ्रेंड के हाथ-पैर तोड़कर सड़क पर फेंका, इलाज के दौरान मौत

Girlfriend's arms and legs were thrown on the road in Faridabad, died during treatment

Faridabad News: फरीदाबाद में डबुआ चौक निवासी 19 वर्षीय युवती की उसके दोस्त ने संजय कॉलोनी में बुधवार देर रात गली में घसीटते हुए तेजधार हथियार से वार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। युवती रातभर गली में तड़पती रही। युवती को भाई ने गुरुवार सुबह अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां उसकी मौत हो गई।

मुजेसर थाना पुलिस ने युवती के भाई की शिकायत पर उसके दोस्त के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। यह वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। हत्या की वजह का अभी कुछ पता नहीं चल सका है। बताया गया कि जिस वक्त रोशनी नामक युवती पर युवक हमला कर रहा था, उस वक्त वहां फैक्ट्री के दो कर्मचारियों ने उसे रोका था। युवक ने दोनों को जान से मारने की धमकी देकर भगा दिया।

Greater Noida News: ग्रेटर नोएडा सीईओ रितु माहेश्वरी का एक्शन : बकाएदारों के आवंटन रद्द और नए सिरे से आवंटन करने का दिया निर्देश

इसके बाद हमलावर युवक युवती के हाथ-पैर तोड़कर फरार हो गया। युवती गुरुवार सुबह करीब 530 बजे तक गली में घायलावस्था में पड़ी रही। जब वहां से कुछ राहगीर गुजरे तो युवती ने उनसे मदद की गुहार लगाई। इस पर उन्होंने युवती की उसके भाई से फोन पर बात करवाई। इस भाई और बाकी परिजन मौके पर पहुंच गए। उन्होंने युवती को बीके अस्पताल में भर्ती करवाया। करीब 930 युवती ने दम तोड़ दिया।

एसीपी (मुजेसर) दलवीर सिंह ने कहा कि युवती पर चाकू से वार किया गया था। हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। आरोपी दोस्त की तलाश की जा रही है। हत्या की वजह का अभी पता नहीं चला है।

आरोपी की मां को छोड़ घर से सभी फरार

घटना का पता चलते ही पुलिस की टीम आरोपी के घर दबिश दी, लेकिन वहां केवल आरोपी की बुजुर्ग मां थी। पुलिस ने उनसे पूछताछ की, लेकिन आरोपी के बारे में कुछ पता नहीं चल सका। अपराध जांच शाखा की टीमें आरोपी के बारे में सुराग लगाने में जुटी हैं।

साथ काम करता था आरोपी युवक

युवती के जीजा राजू ने बताया कि उसकी साली कोरोना लॉकडाउन से पहले सेक्टर-24 स्थित एक फैक्ट्री में हेल्पर के तौर नौकरी करती थी। इसके बाद यह फैक्ट्री बंद हो गई थी। इसी फैक्ट्री में महेंद्र नामक युवक भी नौकरी करता था। फैक्ट्री में काम करते हुए युवती की इस युवक से दोस्ती हो गई थी। फिलहाल युवती व्हर्लपूल चौक के पास एक फैक्ट्री में नौकरी करती थी। बुधवार को वह घर से फैक्ट्री के लिए निकली थी, लेकिन देर रात तक वह घर नहीं लौटी। युवती को काफी तलाश किया, लेकिन उसका मोबाइल नंबर भी बंद था। उन्होंने बताया कि युवती के बारे में पता करने फैक्ट्री गए थे। फैक्ट्री से पता चला कि युवती घर के लिए निकल चुकी है।


फैक्ट्री कर्मी हिम्मत दिखाते तो बच सकती थी जान

जिस वक्त युवती पर हमला हो रहा था तो वहां दो लोग बराबर की फैक्ट्री में मौजूद थे। वे हमला होते हुए देख रहे थे। यदि ये हिम्मत दिखाकर पुलिस को सूचित कर देते तो युवती की जान बच सकती थी।

हाथ-पैर तोड़कर भाग गया

युवती के जीजा ने बताया कि आरोपी दोस्त ने युवती के हाथ-पैर तोड़ दिए थे। तेजधार हथियार से हाथ-पैरों को भी चाकू से काट दिया था। उन्होंने बताया कि आरोपी ने उसकी साली को बहुत यातनाएं दी थीं। इसी वजह से उसकी मौत हुई थी। उन्होंने बताया कि अस्पताल में उसकी साली बोल रही थी। 

Share this story