Satyendar Jain Video: तिहाड़ जेल में मसाज करवाते कैमरे में कैद हुए AAP नेता सत्येंद्र जैन, बीजेपी हुई हमलावर

Satyendar Jain Video: AAP leader Satyendar Jain caught on camera getting massage in Tihar Jail, BJP attacked

Satyendar Jain: भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार को तिहाड़ जेल की कोठरी में आम आदमी पार्टी के मंत्री सत्येंद्र जैन की मालिश करवाते हुए एक वीडियो जारी किया। बता दें कि कुछ दिनों पहले ही तिहाड़ जेल के अधीक्षक अजीत कुमार को सस्पेंड किया गया था। अजीत कुमार पर आरोप था कि उन्होंने जेल के अंदर सत्येंद्र जैन को वीआईपी ट्रीटमेंट मुहैया कराई है। अब भाजपा ने मसाज कराने का वीडियो जारी किया है।

तिहाड़ जेल सूत्रों के मुताबिक, वीडियो पुराना है। जेल प्रशासन ने संबंधित अधिकारियों और जेल कर्मचारियों के खिलाफ पहले ही कार्रवाई कर दी है। इससे पहले, प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने आरोप लगाया था कि कथित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार सत्येंद्र जैन को तिहाड़ जेल के अंदर वीआईपी ट्रीटमेंट दिया जा रहा है। साथ ही सिर की मालिश, पैरों की मालिश और पीठ की मालिश जैसी सुविधाएं भी दी जा रही थीं।

Urfi Javed Latest Video: कपड़ों की जगह दो मोबाइल फोन लटकाकर निकलीं उर्फी जावेद, खुद को बताया ‘फुली चार्ज्ड’

ईडी ने वीआईपी ट्रीटमेंट के सौंपे थे सबूत


जांच एजेंसी ने जेल में दिल्ली के मंत्री के वीआईपी ट्रीटमेंट से संबंधित साक्ष्य भी एक अदालत को सौंपे। ईडी की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल (एएसजी) एसवी राजू ने कहा, “अज्ञात व्यक्ति सत्येंद्र जैन के पैरों की मालिश कर रहा था। सत्येंद्र जैन को जेल के अंदर स्पेशल फूड भी दिया जा रहा है।”

एएसजी ने अदालत के साथ कुछ सीसीटीवी तस्वीरें शेयर कीं और आरोप लगाया कि जैन ज्यादातर समय या तो अस्पताल में या जेल में विभिन्न सुविधाओं का आनंद लेते हैं। बता दें कि दिल्ली के 58 वर्षीय मंत्री को 30 मई को गिरफ्तार किया गया था।



केजरीवाल सरकार पर हमलावर हुई भाजपा


जेल के अंदर मालिश कराने का सीसीटीवी फुटेज जारी करने के बाद भाजपा केजरीवाल सरकार पर हमलावर हो गई है। भाजपा के शहजाद पूनावाला ने एक ट्वीट कर लिखा कि जेल में वीवीआईपी ट्रीटमेंट! क्या केजरीवाल ऐसे मंत्री का बचाव कर सकते हैं? क्या उन्हें बर्खास्त नहीं कर देना चाहिए? यह आम आदमी पार्टी का असली चेहरा दिखाता है!

बता दें कि इससे पहले आम आदमी पार्टी ने जैन को जेल में विशेष इलाज के आरोपों को बेतुका और निराधार बताते हुए खारिज कर दिया था।

Share this story