दिल्ली : अब ED ने दुर्गेश पाठक को भेजा समन, सिसोदिया बोले- इनका टारगेट शराब नीति या MCD चुनाव
Delhi: Now ED summons Durgesh Pathak, Sisodia said – his target is liquor policy or MCD elections

Delhi News: शराब नीति को लेकर आम आदमी पार्टी (आप) की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अब पार्टी विधायक और नगर निगम चुनाव के प्रभारी दुर्गेश पाठक को तलब किया है। इसकी जानकारी उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट करके दी। उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए पूछा है कि इनका मकसद शराब नीति है या निगम चुनाव।

सिसोदिया ने सोमवार को ट्वीट कर कहा, 'आज ईडी ने 'आप' के एमसीडी के चुनाव इंचार्ज दुर्गेश पाठक को समन किया है। दिल्ली सरकार की शराब नीति से हमारे एमसीडी चुनाव इंचार्ज का क्या लेना देना? इनका टारगेट शराब नीति है या एमसीडी चुनाव?'

झूठे केस में फंसाने की कोशिश

एक दिन पहले ही मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा था। पार्टी के पहला राष्ट्रीय जनप्रतिनिधि सम्मेलन में दिल्ली के सीएम ने कहा था कि केंद्र सरकार उनकी पार्टी के मंत्रियों और नेताओं को भ्रष्टाचार के झूठे मामलों में फंसाने की कोशिश कर रही है। इसकी वजह बीजेपी का आप की बढ़ती लोकप्रियता को नहीं पचा पाना है। उन्होंने कहा था कि हमारे विधायकों पर अबतक 169 केस हो चुके हैं और उन्हें एक भी केस में सजा नहीं हुई है।

Ghaziabad News: जूस पिलाकर पत्नी संग बुजुर्ग का अश्लील वीडियो बनाया, होश में आने पर देने पड़े 45 लाख रुपये

पार्टी मे बनाया एमसीडी इंचार्ज

दुर्गेश पाठक आप के उभरते हुए नेता हैं। राघव चढ्डा के पंजाब से राज्यसभा सांसद बनने के बाद खाली हुई दिल्ली की राजेंद्र नगर विधानसभा सीट से पार्टी ने दुर्गेश को चुनाव मैदान में उतारा था। उपचुनाव में उन्होंने बीजेपी और कांग्रेस उम्मीदवारों को भारी मतों से हराकर पार्टी की साख बनाए रखी थी। अब पार्टी ने उन्हें नगर निगम चुनाव की जिम्मेदारी सौंपी है।

इससे पहले 40 जगह हुई थी छापेमारी

इससे पहले बीते शुक्रवार को ईडी ने दिल्ली शराब घोटाले को लेकर हैदराबाद, बेंगलुरु और चेन्नई समेत देशभर में 40 ठिकानों पर छापेमारी की थी। अकेले हैदराबाद में ही 25 जगहों पर रेड डाली थी। इसके अलावा जेल में बंद दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन से भी पूछताछ की गई थी। वहीं उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर पर सीबीआई की छापेमारी हो चुकी है। शराब घोटाले को लेकर बीजेपी और आप के बीच बयानबाजी का दौर जारी है।


 

Share this story