TATA Nexon EV इलेक्ट्रिक कार पर इंडियन एयरफोर्स ने जताया भरोसा, भारत में इसकी सबसे ज्यादा डिमांड

Indian Airforce expressed confidence in Tata's Nexon EV electric car, its highest demand in India

भारत में इस टाटा नेक्सन ईवी की सबसे ज्यादा डिमांड है। अब भारतीय वायु सेना (IAF) ने भी इस ईवी को अपने बेड़े में शामिल कर दिया है। कार्बन उत्सर्जन को कम करने के लिए भारतीय वायु सेना ने Tata Nexon EV के एक बैच को अपने बेड़े में शामिल किया है, जो सरकार की ग्रीन मोबिलिटी पहल को आगे बढ़ाने में मदद करेगा। एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने अन्य वरिष्ठ अधिकारियों और कर्मचारियों की उपस्थिति में भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल होने वाले 12 इलेक्ट्रिक वाहनों के पहले बैच को हरी झंडी दिखाई। भारतीय बाजार में इस ईवी की कीमत 17,50,000 रुपये (एक्स-शोरूम) से शुरू होती है।

Peugeot XP400 सीसी एडवेंचर स्कूटर हुई पेश, जानिए क्या हैं खूबियां

पुराने वाहनों को ईवी से किया जा रहा रिप्लेस

आपको बता दें कि फोर्स डाउनग्रेडेड पुराने वाहनों को बदलकर धीरे-धीरे अपने बेड़े में इलेक्ट्रिक वाहनों के उपयोग को प्रोग्रेसिव तरीके से बढ़ाने की योजना बना रहा है। IAF चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर की स्थापना सहित विभिन्न फोर्स ठिकानों पर ई-वाहनों के इकोसिस्टम को बढ़ाने की भी योजना बना रहा है। IAF ने कहा कि आज पेश की गई इलेक्ट्रिक कारों का पहला बैच परफॉर्मेंस मॉनिटरिंग और एनालिसिस के लिए दिल्ली एनसीआर यूनिट में तैनात किया जाएगा।


IAF ने व्हीकल्स की एक स्टैंडर्डाइज्ड इन्वेंटरी बनाने के लिए इलेक्ट्रिक बसों और इलेक्ट्रिक कारों की चल रही खरीद के लिए भारतीय सेना के साथ हाथ मिलाया है। इसमें कहा गया है कि यह कदम इको-फ्रेंडली मोबिलिटी के प्रति परिवर्तन के उद्देश्य के प्रति भारतीय वायुसेना की प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है।

2030 तक 100% इलेक्ट्रिक वाहनों पर स्विच होने का लक्ष्य

एक सेपरेट डेवलपमेंट में 137 एयरपोर्ट का मैनेज करने वाले भारतीय एयरपोर्ट्स अथॉर्टी (AAI) ने कहा कि अब सभी इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) पर स्विच हो रहे है, जो चार्जिंग इंफ्रा विकसित करने के लिए हवाईअड्डा सर्विस प्रोवाइडर्स को प्रोत्साहित कर रहा है। हवाई अड्डों पर बुनियादी ढांचा तेजी से तैयार हो रहा है। यह कदम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इलेक्ट्रिक मोबिलिटी की ओर बढ़ने के विजन के अनुरूप है। संस्था का लक्ष्य 2030 तक इलेक्ट्रिक वाहनों पर स्विच करने के लिए 100 प्रतिशत लक्ष्य हासिल करना है।

AAI ने शुरू में नई दिल्ली में अपने कॉर्पोरेट और क्षेत्रीय मुख्यालयों में आधिकारिक उपयोग के लिए 10 इलेक्ट्रिक वाहनों को शामिल किया था, जबकि मूल उपकरण निर्माताओं से सीधे खरीद / एयरसाइड संचालन के लिए किराए पर लेने के माध्यम से देश भर में एएआई हवाई अड्डे के कार्यालयों में कुल 45 ई-वाहन लगे हुए थे।


 

Share this story